12 हजार रुपये किलो बिकी ऑर्थोडॉक्स चाय

- in अजब-गजब, वायरल


कोलकाता : ईरान एक्सपोर्ट होने वाली असम की ऑर्थोडॉक्स चाय का दाम पिछले साल से लगभग 11 प्रतिशत कम हो गया है, लेकिन कोलकाता की दो चाय कंपनियां इसी चाय की काफी ऊंची कीमत पाने में कामयाब रही हैं। रसेल टी को दिकोम टी एस्टेट की चाय के लिए 12 हजार रुपये प्रति किलो का रेट मिला है, जबकि मोकलबाड़ी टी एस्टेट की चाय की कीमत 8001 रुपये प्रति किलो लगी। रसेल टी के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट (मार्केटिंग) इंद्रजीत रॉय ने कहा, हमने रघुनाथ एक्सपोर्ट्स को 12,000 रुपये प्रति किलो के भाव से 36 किलो चाय बेची है। उन्होंने यह चाय अपने जर्मन क्लाइंट्स के लिए खरीदी है।

चाय ऑक्शनर जे थॉमस ऐंड कंपनी के जरिए बेची गई है और यह अब तक किसी भी असम ऑर्थोडॉक्स चाय के लिए दी गई सबसे ऊंची कीमत है। रॉय ने कहा, ये प्रीमियम गोल्डन टिप चाय है और अमेरिका, जर्मनी, जापान, ईरान और रूस में इसके बड़े खरीदार हैं। रसेल टी के 7 टी एस्टेट हैं, जहां कुल 50 लाख किलो चाय का उत्पादन होता है। अपर असम में ब्रह्मपुत्र नदी के दक्षिणी किनारे स्थित मोकलबाड़ी टी एस्टेट गोल्डन टिप चाय के लिए मशहूर है। पैरामाउंट टी मार्केटिंग के प्रेसिडेंट सुरजीत हजारिका ने कहा, मोकलबाड़ी में टी एस्टेट ने चाय के पौधों की खास प्रजाति विकसित की है, जो गोल्ड टिप टी के उत्पादन के लिए जरूरी है। रघुनाथ एक्सपोर्ट्स ने 30 ग्राम मोकलबाड़ी गोल्डन टिप टी अपने जर्मन क्लाइंट्स के लिए 8001 रुपये प्रति किलो के रेट पर खरीदी है। यह ऑर्थोडॉक्स टी की दूसरी सबसे ऊंची कीमत है।

मोकलबाड़ी टी के मैनेजिंग डायरेक्टर अजय जालान ने कहा कि यह चाय स्पेशल क्लोन पौधों की बहुत मुलायम कलियों से तैयार की जाती है। इनकी मैन्युफैक्चरिंग बहुत खर्चीली है क्योंकि तुड़ाई से लेकर पैकिंग तक हर स्टेज पर कड़ी निगरानी की जरूरत होती है। रॉय ने कहा कि सेकेंड फ्लश असम ऑर्थोडॉक्स चाय का उत्पादन मई मध्य से जुलाई अंत तक होता है। उन्होंने कहा, ‘हाई क्वॉलिटी ऑर्थोडॉक्स चाय के दुनिया में खरीदार हैं। ईरान ऑर्थोडॉक्स चाय का बड़ा खरीदार है। ईरान हर साल 2.9-3 करोड़ किलो ऑर्थोडॉक्स चाय की खरीदारी करता है। देश में हर साल 6-7 करोड़ किलो चाय का उत्पादन होता है। हालांकि कुछ प्रीमियम क्वॉलिटी की ऑर्थोडॉक्स चाय का भाव ऊंचा चलता है, लेकिन ईरान से चाय की ज्यादा डिमांड नहीं आने से उसका भाव पिछले साल के मुकाबले 11 प्रतिशत गिर गया है। ईरान पर अमेरिकी पाबंदी के चलते वहां के बाजार में बहुत अनिश्चितता हो गई है। पिछले हफ्ते हुई नीलामी में 30 फीसदी ऑर्थोडॉक्स चाय अनबिकी रह गई। ईरान को चाय भेजने वाले बड़े एक्सपोर्टर बिनोद बंसल ने कहा, ईरान सरकार को चाय को लेकर कुछ नियम बनाने होंगे, जो उसने अब तक नहीं किए हैं और उसे हर हफ्ते टाला जा रहा है। पेमेंट फ्लो बंद नहीं हुआ है लेकिन धीमा जरूर हो गया है।