15 सौ किलो स्वर्ण से बना है तमिलनाडु का ‘श्रीपुरम मंदिर’


चेन्नई : देश में अब तक अमृतसर का गोल्डन टेम्पल मशहूर है, वहां जाने वाला हर शख्स वहां की शांति और खूबसूरती देखकर मंत्रमुग्ध हो जाता था। मगर हमारे देश में इस प्रकार के अद्भुत स्थलों की कमी नहीं है। दरअसल, तमिलनाडु के वेल्लोर स्थित श्रीपुरम स्वर्ण मंदिर भी अपनेआप में दुनिया का सबसे बेजोड़ आश्चर्य है। महालक्ष्मी श्रीपुरम स्वर्ण प्रसिद्ध मंदिर तमिलनाडु राज्य के वेल्लोर नगर में स्थित है। शहर के दक्षिणी भाग में बने इस महालक्ष्मी मंदिर के निर्माण में लगभग 15 सौ किलोग्राम शुद्ध सोने का इस्तेमाल किया गया है। इस भव्य मंदिर का निर्माण 2007 में पूरा हुआ था। जिसमें लगभग 300 करोड़ रु. से ज्यादा का खर्च आया। मंदिर के अंदर व बाहर की सजावट में सोने का इस तरह से इस्तेमाल किया गया है कि रात के समय जब इस मंदिर पर रोशनी पड़ती है तो, यहां का नजारा बेहद खूबसूरत नजर आता है। दुनिया में किसी भी मंदिर में इतने सोने का इस्तेमाल नहीं किया गया है। मंदिर 100 एकड़ से ज्यादा क्षेत्रफल में फैला हुआ है, जिसमें हर तरफ हरियाली से भरा नजारा दिखाई देता है। खास बात है कि मंदिर की संरचना वृत्ताकार है। जिस वजह से आपको चारों ओर सुंदर भव्य निर्माण कला के बेजोड़ नमूने देखने के लिए मिलते हैं। यहां पूरे साल ही श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला जारी रहता है। जिसके चलते कई बार एक दिन में एक लाख से ज्यादा दर्शन के लिए भी लोग पहुंचते हैं। इसके अलावा मंदिर में देश की सभी प्रमुख नदियों का पानी लाकर एक खास सरोवर भी बनाया गया है। जितना ही यह मंदिर भव्य है, उतनी ही यहां की सुरक्षा चाक चौबंद रहती है। इसके साथ ही हर दिन सुबह 8 से रात्रि 8 के बीच यह मंदिर श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए खुला रहता है। देवी महालक्ष्मी व देवों की प्रातःकालीन पूजा-अर्चना यहां सुबह 4 बजे से शुरू होकर 8 बजे तक चलती है। शाम की आरती 6 से 7 बजे के बीच की जाती है, जिनमें शामिल होना बड़े सौभाग्य की बात है।
मंदिर में 24 घंटे सिक्यॉरिटी फोर्स पहरा देती नजर आती है। वेल्लोर में आने के लिए तीन मुख्य रेलवे स्टेशन हैं। जिसमें सबसे महत्वपूर्ण कट्पडी जंक्शन है। दूसरा बड़ा स्टेशन वेल्लोर छावनी है, जो सूर्यकुलम में है और कट्पडी जंक्शन से 8 किमी दूर है। तीसरा और सबसे छोटा स्टेशन वेल्लोर टाउन स्टेशन है। यह कोनावट्टम विल्लीकपुरम जंक्शन से कट्पडी जंक्शन को जोड़ता है। अगर आप हवाई मार्ग से वेल्लोर की यात्रा करते हैं तो, 100 किमी की दूरी पर स्थित निकटतम घरेलू हवाई अड्डे तिरुपति एयरपोर्ट पर आपको उतरना होगा। चेन्नई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा यहां से 130 किलोमीटर दूर है और बेंगलुरु अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा यहां से 200 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इन शहरों से वेल्लोर तक नियमित बसें भी चलती हैं। इसके अलावा वेल्लोर व आस-पास के लिए टैक्सी भी आपको हवाई अड्डों से आसानी से मिल जाती हैं। यहां सालभर श्रद्धालु आराम से दर्शन के लिए आ सकते हैं। श्रीपुरम, स्वर्ण मंदिर के अंदर प्रवेश करते समय आपका पहनावा शालीन होना चाहिए। यहां सभी के लिए शॉर्ट ड्रेसेस पहनकर आने की मनाही है। इसके अलावा अन्य दर्शनीय मंदिरों की भांति यहां भी मोबाइल फोन, कैमरा और अन्य इलेक्ट्रॉनिक सामान, तंबाकू, शराब जैसी मादक वस्तुएं व ज्वलनशील सामान आप अंदर लेकर नहीं जा सकते हैं।