18वें एशियन गेम्स : कांस्य पदक विजेता भारतीय पुरूष हॉकी टीम को दी बधाई

- in खेल


लखनऊ : जकार्ता में चल रहे 18वें एशियन गेम्स में भारत की पुरूष हॉकी टीम ने अपने चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को 2-1 से हराकर कांस्यस पदक जीत लिया। पुरूष टीम के कांस्य पदक जीतने पर आज मैच के बाद एशियन गेम्स में आईओए के प्रतिनिधि श्री आनन्देश्वर पाण्डेय (कोषाध्यक्ष, भारतीय ओलंपिक संघ) और डा.आरपी सिंह (खेल निदेशक, उत्तर प्रदेश) ने मुलाकात कर बधाई दी और कामना की कि पुरूष हॉकी टीम निकट भविष्य में अन्य इंटरनेशनल टूर्नामेंट में पदक जीतें। आनन्देश्वर पाण्डेय ने कहा कि भारत की पुरूष हॉकी टीम ने स्वर्ण की होड़ से पिछड़ने के बावजूद वापसी करते हुए आज कांस्य पदक के मैच में जीत दर्ज की। मुझे उम्मीद है कि आगे अन्य इंटरनेशनल टूर्नामेंटों में हमारी यह टीम स्वर्ण पदक जीतेगी और टोक्यो ओलंपिक-2020 का टिकट हासिल करके वहां भी देश का परचम लहराएगी।

उन्होंने भारतीय टीम के पहले गोल में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले यूपी के ललित उपाध्याय से भी मुलाकात की और ललित को उसके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी। भारतीय पुरूष हॉकी टीम ने आज तीसरे और चौथे स्थान के लिए हुए मैच में पाकिस्तान को 2-1 से मात दी। मैच का पहला गोल भारत के आकाशदीप ने किया। आकाशदीप ने तीसरे मिनट में ललित उपाध्याय से मिले पास पर तेजी से आगे बढ़ते हुए गोल दागा। भारत के लिए हरमनप्रीत सिंह ने 50वें मिनट में मिले पेनाल्टी कार्नर पर दूसरा गोल किया। पाकिस्तान से एकमात्र गोल मोहम्मद अतीक ने 52वें मिनट में किया। इस मैच में भारत को दो पेनाल्टी कॉर्नर मिले। इसमें से एक को हरमनप्रीत ने गोल में बदला। वहीं, पाकिस्तान को चार पेनाल्टी कॉर्नर मिले, लेकिन वह एक भी गोल नहीं कर सका। दोनों टीमें पहली बार एशियाई खेलों में कांस्य के लिए आमने-सामने थीं। भारतीय टीम पिछले एशियन गेम्स में चैंपियन रही थी। एशियन गेम्स में अब भारत के कुल 69 पदक (15 स्वर्ण, 24 रजत, 30 कांस्य ) हो गए हैं और भारत इन खेलों में आठवें पायदान पर बना हुआ है।