36 साल बाद पत्नी के हत्या के आरोप में पति गिरफ्तार

ऑस्ट्रेलिया की पुलिस ने सिडनी की रहने वाली एक महिला के पति को गिरफ्तार किया है। महिला साल 1982 में लापता हो गई थी। इस मामले को एक मशहूर पोडकास्ट आपराधिक मामला भी कहा जा रहा है। गिरफ्तार हुए व्यक्ति का नाम क्रिस डॉसन (70) है। उसपर उसकी पत्नी लिनेट डॉसन की हत्या का आरोप है।

36 साल बाद पत्नी के हत्या के आरोप में पति गिरफ्तार

डॉसन का कहना है कि उसने अपनी पत्नी की हत्या नहीं की। उसके दो बच्चों भी हैं। उसका कहना है कि उसकी पत्नी एक धार्मिक समूह में शामिल होने के लिए परिवार को छोड़कर चले गई थी। वहीं इस परिवार के पुराने घर में साल 2018 के शुरू में जांच की गई लेकिन उससे भी कोई सबूत हाथ नहीं लगा। बुधवार को पुलिस ने कहा कि तीन साल की जांच के बाद डॉसन को गिरफ्तार किया गया है।

सुप्रीटेंडेंट स्कॉट कुक का कहना है, “हम तब तक हार नहीं मानेंगे जब तक हमें ये पता नहीं चल जाता कि लिनेट कहां है। लेकिन हमारे नजरिए से यह मामले को अंतिम रूप देने के लिए महत्वपूर्ण नहीं है।”

आरोपी के खिलाफ दो अलग-अलग पूछताछ की मांग की गई है। हालांकि अभियोजन पक्ष पहले ही कह चुका है कि डॉसन पर आरोप लगाने के लिए सबूत पर्याप्त मात्रा में नहीं हैं। वहीं लिनेट डॉसन के बारे में कभी कुछ पता नहीं चल पाया कि वह कहां है।

साल 2003 में हुई एक कानूनी जांच में पता चला कि क्रिस डॉसन अपनी शादीशुदा जिंदगी के दौरान कई युवा छात्रों के साथ यौन संबंधों में संलग्न था। वह स्कूल का अध्यापक रह चुका है और एक रग्बी लीग स्टार भी है। जांच में पता चला कि जिस दौरान डॉसन की पत्नी लापता हुई तभी एक 16 साल की लड़की उनके घर आ गई। कुछ समय बात उसने डॉसन से शादी भी कर ली लेकिन बाद में दोनों अलग हो गए।

साल 2018 में ”द टीचर्स पेट” नाम के एक पोडकास्ट ने इस मामले में पूरी दुनिया का ध्यान अपनी ओर खींचा। मई, 2017 तक पोडकास्ट में जो कहा गया था वह 2.7 करोड़ लोगों ने सुना। इस पोडकास्ट को एक ऑस्ट्रेलियन अखबार ने पब्लिश किया था।

पुलिस की भी काफी आलोचना की गई कि उन्होंने मामले की जांच ठीक से नहीं की है। न्यू साउथ वेल्स पुलिस के कमिश्नर मिक फुलर ने हाल ही में 1980 के इस मामले में पुलिस की नाकामियाबी पर माफी मांगी है। फुलर ने कहा कि आज से तीन साल पहले लापता होने के इस मामले पर जासूसों ने गौर किया। जिसके बाद कुछ सबूतों के आधार पर डॉसन को गिरफ्तार किया गया। आरोपी इस वक्त क्वींसलैंड में रह रहा था। उन्होंने कहा कि सबसे जरूरी न्याय है जिसके लिए उन्होंने कदम बढ़ाने शुरू कर दिए हैं।