67 साल में बने 65 एयरपोर्ट, हमने चार साल में 35 बनाए : प्रधानमंत्री मोदी

गंगटोक : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सिक्किम को बड़ा तोहफा दिया है। यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य के पहले हवाई अड्डे का उद्घाटन किया।

इस दौरान उनके साथ केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु भी मौजूद रहे। उद्घाघटन समारोह में मोदी ने कहा कि हमारी सरकार में कई जगहों पर हवाई जहाज पहली बार पहुंचे हैं। रेल कनेक्टिविटी पहली बार पहुंची है। कई जगह बिजली पहली बार पहुंची है। चौड़े नेशनल हाईवे बन रहे हैं। गांव की सड़कें बन रही हैं। नदियों पर बड़े-बड़े पुल बन रहे हैं। डिजिटल इंडिया का विस्तार हो रहा है। उन्होंने कहा कि आज देश में 100 एयरपोर्ट चालू हो गए हैं, इसमें से 35 एयरपोर्ट बीते 4 वर्षों में जुड़े हैं। आजादी के बाद से साल 2014 तक यानि 67 साल के बाद भी देश में 65 एयरपोर्ट थे। यानि 1 वर्ष में औसतन 1 हवाई अड्डा बनाया गया, बीते 4 वर्षों में औसतन 1 साल में 9 एयरपोर्ट तैयार हुए हैं। 70 सालों में 400 विमान और पिछले एक साल में विमानन कंपनियों ने 1000 नए विमानों का आर्डर दिया है। यह मेरे उस सपने को सच करेगा जिसमें हवाई चप्पल पहनने वाला सामान्य इंसान हवाई यात्रा कर सकेगा। पीएम मोदी सिक्किम में पहले हवाई अड्डे के उद्घाटन के लिए रविवार शाम ही गंगटोक पहुंच गए थे। प्रधानमंत्री एयरपोर्ट का उद्घाटन करने के लिए सड़क के रास्ते ही कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे। रविवार को सेना के लिबिंग हेलीपैड पर राज्यपाल गंगा प्रसाद और मुख्यमंत्री पवन चामलिंग ने उनका स्वागत किया था।

साल 2009 में इस ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे की आधारशिला रखे जाने के करीब नौ साल बाद सिक्किम का यह सपना पूरा हुआ है। यह हवाई अड्डा गंगटोक से करीब 33 किलोमीटर दूर है। यह हवाई अड्डा 201 एकड़ से ज्यादा जमीन में फैला है और समुद्र तल से 4,500 फुट की ऊंचाई पर बसे पक्योंग गांव के करीब दो किलोमीटर ऊपर एक पहाड़ी की चोटी पर बनाया गया है। मोदी हवाई अड्डे का उद्घाटन करने के बाद पक्योंग में सेंट जेवियर्स स्कूल में लोगों को संबोधित किया। प्रधानमंत्री बागडोगरा से एमआई-8 हेलीकॉप्टर से रविवार की शाम यहां पहुंचे और सेना के लिबिंग हेलीपैड पर राज्यपाल गंगा प्रसाद, मुख्यमंत्री पवन चामलिंग और अन्य ने उनकी अगवानी की। सेना ने उन्हें सलामी गारद पेश किया।