AN-32 Crash: अरुणाचल प्रदेश में मिले 6 लोगों के शव और सात लोगों के अवशेष

असम के जोरहट से उड़ान भरने के बाद अरुणाचल प्रदेश की पहाड़ियों में क्रैश हुए वायुसेना के विमान एएन-32 में सवार 13 लोगों में से छह लोगों के शव बरामद हो गए हैं, जबकि बाकी सात लोगों के शरीर के पार्थिव अवशेष भी मिले हैं। शवों और अवशेषों को जोरहट लाने का प्रयास किया जा रहा है। मौसम ठीक रहा तभी ऐसा संभव हो पाएगा। मालूम हो कि तीन जून की दोपहर एएन-32 विमान ने असम के जोरहट से मेंचुका एडवांस लैंडिंग ग्राउंड के लिए उड़ान भरी थी। उड़ान भरने के आधे घंटे के अंदर विमान का संपर्क कंट्रोल रूम से टूट गया था और उसके बाद से विमान का कुछ पता नहीं चल पाया था। विमान में पायलट सहित कुल 13 लोग सवार थे।

भारतीय वायुसेना के एएन-32 विमान का मलबा जिस स्थान पर मिला था, वह अरुणाचल प्रदेश में एएन-32 के उड़ान मार्ग से करीब 15-20 किलोमीटर उत्तर की ओर है। वायुसेना के बयान के अनुसार, 12,000 फीट पर एक छोटे से गांव लिपो के पास विमान का मलबा मिला था।

लीपो गांव के घने जगंलों में विमान का मलबा मिलने के बाद वायुसेना ने इसकी तस्वीर जारी की थी। दुर्गम पहाड़ी इलाके से विमान के दुर्घटनाग्रस्त स्थल की जो तस्वीर में मलबा बिखरा हुआ और आसपास के पेड़ जले हुए दिख रहे थे। जिससे यह आशंका जताई गई थी कि विमान के क्रैश होने के बाद इन पेड़ों में आग लगी होगी।

एएन-32 विमान हादसे के शहीद

विंग कमांडर जीएम चार्ल्स
स्कवाड्रन लीडर एच विनोद
फ्लाइट लेफ्टिनेंट आर थापा
फ्लाइट लेफ्टिनेंट ए तंवर
फ्लाइट लेफ्टिनेंट एस मोहंती
फ्लाइट लेफ्टिनेंट एमके गर्ग
वारंट ऑफिसर केके मिश्रा
सार्जेंट अनूप कुमार
कॉरपोरल शेरिन
लीडिंग एयरक्राफ्ट मैन एसके सिंह
लीडिंग एयरक्राफ्ट मैन पंकज
नॉन कॉम्बैंटेट (ई) पुतली
नॉन कॉम्बैंटेट (सी) राजेश कुमार