ट्रम्प की क्यूबा नीति में बदलाव से रिपब्लिकन पार्टी में मतभेद उभरे

वाशिंगटन : राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की नई क्यूबा नीति पर रिपब्लिकन पार्टी में ही मतभेद उभरने लगे हैं. पार्टी के कई शीर्ष नेताओं ने ट्रंप के इस फैसले पर चिंता जताई है. वहीं आलोचकों के अनुसार क्यूबा पर फिर से प्रतिबंध लगाने से अमेरिका को पड़ोस के एक बड़े बाजार से हाथ धोना पड़ेगा. बता दें कि अमेरिका के कृषि प्रधान राज्यों से आने वाले रिपब्लिकन सांसदों ने क्यूबा के खिलाफ सख्त रुख अपनाने की नीति को अलग-थलग करने वाला बताया है.

ये भी पढ़ें: Video : स्वीमिंग पूल में तैरते इतने बड़े सांप ने जब किया हमला…

ट्रम्प की क्यूबा नीति में बदलाव से रिपब्लिकन पार्टी में मतभेद उभरे

सांसदों ने इस घोषणा पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया है. अरकंसास से रिपब्लिकन सांसद रिक क्रॉफोर्ड की नजर में ट्रंप ने ग्रामीण अमेरिका के लिए इसे एक बेहतरीन मौका गंवाने जैसा बताया है. क्रॉफोर्ड के अनुसार क्यूबा एक बेहतरीन बाजार साबित होता, जबकि एरिजोना के रिपब्लिकन सीनेटर जेफ फ्लैक ने अपने बयान में अमेरिकी नागरिकों द्वारा क्यूबा की स्वछंद यात्रा नहीं करना दोनों देशों के हितों के लिए ठीक नहीं होना बताया.

ये भी पढ़ें: सात जन्म साथ-साथ रहने के लिए भारत सहित 7 देशों में शादी रचायेगा ये जोड़ा

जबकि दूसरी ओर क्यूबा के राष्ट्रपति राउल कास्त्रो ने अमेरिकी नीतियों को खारिज करते हुए कहा कि क्यूबा की राजनीतिक, आर्थिक और सामाजिक प्रणाली को जबरन बदलने वाली रणनीति असफल ही होगी. हम किसी भी खतरे को अपनाते हुए क्यूबा को सुरक्षित, संप्रभु, स्वतंत्र, समाजवादी, लोकतांत्रिक, संपन्न और मजबूत राष्ट्र बनाने को लेकर दृढ़ रहेंगे. स्मरण रहे कि ओबामा और कास्त्रो ने द्विपक्षीय संबंधों को सामान्य बनाने की कोशिश की थी.

loading...