एक तरफ भारत तो दूसरी तरफ अमेरिका का चीन सागर में प्रवेश, चीन की बढ़ी मुश्किलें

नई दिल्ली: भारत और चीन के बिच डोकलाम में सीमा विवाद को लेकर अभी तक जहा कोई हल नहीं निकला है. ऐसे में जहा चीन पीछे हटने को तैयार नहीं है वही भारतीय सेना भी डटी हुई है. वही चीन के लिए अमेरिका भी मुश्किलें पैदा कर सकता है. जिसमे हाल में रिपोर्ट  से मिली जानकारी में पता चला है कि जहा भारत ने चीन की धमकियों के बाद अपने कदम पीछे नहीं खींचे है, वही इन दोनों देशों के बीच जारी तनाव के बीच अमेरिका की भी एंट्री हो गई है. अमेरिकी नेवी ने ऐसा कदम उठाया है जो चीन की मुश्किलें बढ़ा सकता है.

आईएस ने ईरान में हमले की दी धमकी

एक तरफ भारत तो दूसरी तरफ अमेरिका का चीन सागर में प्रवेश, चीन की बढ़ी मुश्किलें  जानकारी में बताया गया है कि अमेरिका ने अपना युद्धपोत चीन सागर के करीब पहुंचा दिया है. अमेरिकी युद्धपोत चीन के कृत्रिम द्वीप के नजदीक पहुंच गया है. जिस पर चीन ने चिंता जाहिर की है. नौसेना की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि दक्षिण चीन सागर में नौवाहन की स्वतंत्रता अभियान के दौरान अमेरिकी युद्धपोत इस जगह तक पहुंचा था. उन्होंने बताया कि चीन सागर में जिस समय अमेरिकी युद्धपोत ‘यूएसएस जान एस मैकेन’ (USS John S. McCain) पहुंचा तब वहां चीनी युद्ध पोत भी मौजूद था. अमेरिकी युद्धपोत मिस्चिफ रीफ में मौजूद है.

लोकसभा अनिश्चितकाल के लिए हुई स्थगित, 19 बैठकों में 71 घंटे हुआ काम

न्यूज एजेंसी रायटर के अनुसार अमेरिका ने चीन सागर में अपना युद्धपोत भेज दिया है जिस पर चीन और अमेरिका दोनों देश अपना अधिकार बताते है. रिपोर्ट में बताया गया है कि यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि जिस वक्त अमेरिकी और चीनी युद्धपोत आमने-सामने थे तब चीनी नेवी ने अमेरिकी युद्धपोत पर तैनात सैनिकों में क्या बातें हुई. अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति का पद संभालने के बाद यह तीसरा स्वतंत्र नौवहन अभियान है. ऐसे में अब चीन घिरा हुआ नजर आ रहा है.