टीचर से सवाल कर खुद ही घिरे उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री

- in उत्तराखंड, राज्य

उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय निकले तो थे सरकारी स्कूलों में पढ़ाई का स्तर जानने के लिए, लेकिन वहां महिला टीचर से पूछे गए अपने सवालों को लेकर खुद ही सोशल मीडिया पर घिर गए. शिक्षा मंत्री के ज्ञान को लेकर बीते दो दिन से खूब चुटकियां ली जा रही हैं. मंत्री ने महिला टीचर से सख्त लहजे में ये भी कहा था कि महिला हो इसलिए छोड़ रहा हूं वर्ना कड़ी कार्रवाई करता.

दरअसल, सोमवार को पांडेय देहरादून जिले के थानो में स्थित गवर्मेंट इंटर कॉलेज (जीआईसी) में निरीक्षण के लिए पहुंचे थे. वहां उन्होंने विज्ञान की कक्षा में टीचर से जो सवाल जवाब किए, उसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. मंत्री ने कैमिस्ट्री और मैथ्स का हवाला देते हुए दोनों के लिए पूछा था कि अगर माइनस (-) और माइनस (-) को जोड़ा जाए तो क्या टोटल आएगा. मंत्री ने दावा किया कि साइंस उन्होंने भी पढ़ी है और गणित में माइनस प्लस माइनस का टोटल प्लस होता है जबकि कैमिस्ट्री में योग माइनस हो जाता है.

शिक्षा मंत्री के सवालों पर कुछ शिक्षकों से बात की गई तो उनका कहना था कि तकनीकी रूप से इन्हें सही नहीं माना जा सकता. उनके मुताबिक प्लस-माइनस के सवाल सिर्फ मैथ्स में होते हैं कैमिस्ट्री में नहीं. कैमिस्ट्री में रासायनिक समीकरणों में सिर्फ अंकों का प्रयोग होता है. जहां तक मैथ्स का सवाल है तो उसमें भी जब तक कोई अंक साथ नहीं होंगे तो उनका जवाब नहीं दिया जा सकता.   

#Big Bazaar में 10वीं पास के लिए 46,150 पदों पर निकली वैकेंसी, 48 हजार सैलरी

सोशल मीडिया पर मंत्री के सवालों को लेकर खूब किरकिरी हुई. शिक्षकों ने मंत्री की ओर से जिस तरह डपटते हुए महिला टीचर से बात की गई, उसे भी सही नहीं माना. इस मुद्दे पर मंत्री ने बुधवार को हल्द्वानी में सफाई दी.

पांडेय ने कहा कि सोमवार को जिस घटना की बात की जा रही है, उस दिन वहां विज्ञान की क्लास में ना तो कोई बच्चा किताब लेकर आया था और ना ही टीचर किताब से पढ़ा रही थी. सिर्फ एक कुंजी को देखकर ब्लैकबोर्ड पर लिख रही थीं. शिक्षा मंत्री ने कहा कि उन्होंने स्कूल की इज्जत बचाई. उन्होंने ये भी कहा कि उनकी बात गलत साबित हुई तो वे अपने पद से इस्तीफा दे देंगे. पांडेय के मुताबिक उन्हें मंत्री पद का कोई मोह नहीं है, साथ ही ना वो खुद कुछ गलत करेंगे और ना ही गलत होने देंगे.