महिला आयोग का विश्वास गुप्ता पर कार्रवाई का नोटिस

- in हरियाणा

चंडीगढ़ : डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख बाबा राम रहीम की मुंह बोली बेटी हनीप्रीत चाहे अभी कठिनाई में है परन्तु जिस तरह की परिस्थितियां पैदा हो रही है उसे देखकर यह अनुमान लगाया जा सकता है कि हनीप्रीत को लेकर आए अलग अलग बयान कईयों को दुविधा में डाल सकते है। सूत्रों की माने तो हनीप्रीत की यह योजना है कि एक बार पुलिस के चुंगल से बाहर आने के बाद कईयों को कानून दाव पेंच में लपेटा जाएगा। हरियाणा महिला आयोग ने हरियाणा पुलिस के महानिदेशक को हनीप्रीत के पूर्व पति विश्वास गुप्ता के खिलाफ सात दिन के अंदर कार्रवाई करने का नोटिस जारी किया। विश्वास गुप्ता के खिलाफ एडवोकेट मोमिन मलिक ने हरियाणा महिला आयोग को शिकायत दी थी कि हनीप्रीत का विश्वास से तलाक हो चुका है और उसके बाद वह प्रेस कांफ्रेंस कर उन्हें बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं। हनीप्रीत के पूर्व पति विश्वास गुप्ता ने 22 सितंबर को कहा था कि हनीप्रीत राम रहीम की मुंहबोली बेटी नहीं, प्रेमिका है। गुप्ता ने कहा था, 2011 में राम रहीम और मेरा कमरा साथ-साथ था। मैंने एक रात बाबा के कमरे में दोनों को न्यूड देखा था। राम रहीम ने इस घटना के बाद धमकी भी दी थी कि किसी को बताया तो तेरी जान नहीं बचेगी। कमरे में गया तो हनीप्रीत बाबा की गोद में सिर रख रो रही थी

विश्वास ने बताया कि हनीप्रीत और बाबा के संबंधों का जिक्र करते हुए कहा हनीप्रीत को बेटी घोषित करने के बाद बाबा का परिवार और हमारा परिवार साथ बैठा था। थोड़ी देर बातचीत का दौर चला फिर सब चले गए, लेकिन मुझे और हनीप्रीत को रोक लिया गया। फिर बाबा ने विश्वास से कहा कि देखों अब तुम्हारी शादी हो गई है और ये मेरी बेटी। लेकिन बेटी बाप के घर एक रात तो रुक सकती है ना। तो मुझे थोड़ा आश्चर्य हुआ, लेकिन मैंने कहा ठीक है। बाबा ने कहा कि तुम अब जाओ हनीप्रीत को सुबह ले जाना। फिर बाबा ने मुझे गनमैन और स्पेशल गाडिय़ों से घर पहुंचा दिया। विश्वास गुप्ता ने कहा कि दरअसल, वो यह करने की कोशिश में था कि यह लड़का इन सुविधाओं से आकर्षित हो जाएगा।