प्रद्युमन की याद में बनाया ट्रस्ट : वरुण ठाकुर

- in हरियाणा

सोहना : सोहना के गांव भौंड़सी स्थित रेयान इंटरनेशनल स्कूल के कक्षा दूसरी के छात्र रहे 7 वर्षीय मासूम प्रद्युम्न की हत्या के एक महीने बाद पीडि़त पिता ने छात्र प्रद्युम्न की स्मृति को चिरस्थाई बनाए रखने और परेशान अभिभावकों की मदद के लिए प्रद्युम्न फाउंडेशन ट्रस्ट का गठन किया है। प्रद्युम्न के पिता वरूण ठाकुर का कहना है कि इस ट्रस्ट के जरिए देश भर के अभिभावकों को स्कूलों के लिए बने नियमों और उन्हे लागू कराने के लिए जागरूक किया जाएगा। अभिभावकों को उनके अधिकार भी बताए जाएंगे। जल्द ही प्रद्युम्न हैल्पलाइन भी शुरू की जाएगी ताकि हैल्पलाइन के जरिए कोई भी परेशान अभिभावक स्कूलों से संबंधित किसी भी समस्या को लेकर ट्रस्ट के जरिए उनसे संपर्क कायम कर सके। उन्होने बताया कि प्रद्युम्न फाउंडेशन ट्रस्ट निजी स्कूलों में फीस बढ़ोतरी, विद्यार्थी उत्पीडऩ, स्कूल संचालकों के नियमों की अनदेखी करने और बच्चों की सुरक्षा के मामले में अभिभावकों को जागरूक बनाने के साथ-साथ जरूरी कानूनी सहायता मुहैया कराएगा। ट्रस्ट का उदेदश्य पूरे देश में बच्चों की सुरक्षा, कल्याण, संरक्षण, विश्वनीयता, स्थिरता, सुदृढ़ता, निगरानी, आत्मविश्वास को बढ़ावा देना है।

प्रद्युम्न फाउंडेशन ट्रस्ट बाल अधिकारों को लेकर काम करने के साथ-साथ बच्चों के मनोविज्ञान से संबंधित विषयों पर शोध करेगा। सुप्रीम कोर्ट में वकालत करने वाले वरूण ठाकुर के वकील सुशील टेकरीवाल एडवोकेट ने बताया कि प्रधुमन फाउंडेशन ट्रस्ट हर बच्चों के अभिभावकों को उनके अधिकारों की जानकारी देगा और स्कूल के लिए निर्धारित कायदे-कानूनों को प्रभावी तरीके से लागू कराने पर तेजी से काम करेगा। जल्द ही प्रद्युम्न हैल्पलाइन शुरू की जाएगी ताकि कोई भी जरूरतमंद व्यक्ति हैल्पलाइन पर कॉल करके स्कूलों से संबंधित अपने अधिकारों की जानकारी हासिल कर सके। जो व्यक्ति उनसे संपर्क कर मदद के लिए सहयोग मांगेंगे, उन्हे बिल्कुल निशुल्क रूप में हर संभव मदद उपलब्ध कराई जाएगी। उनसे कोई भी पैसा सहयोग के एवज में नही लिया जाएगा। प्रद्युम्न फाउंडेशन ट्रस्ट का असल मकसद निजी स्कूलों की मनमानियों और विद्यार्थियों के शोषण पर अंकुश लगाना तथा विद्यार्थियों व अभिभावकों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक बनाना है।