Thursday, January 19, 2017 - 6:29 PM
Breaking News

प्रसंगवश

Untitled-1 copy
दस्तक-विशेष प्रसंगवश

प्रसंगवश : ज्ञानेन्द्र शर्मा सोशल मीडिया पर अंकित श्रीवास्तव की काफी चर्चा है। अंकित श्रीवास्तव और अभी हाल ही में यूपीएससी टॉपर टीना डाबी ने 2015 में परीक्षा दी ...
Comments Off on और अंत में
amar ke bol
दस्तक-विशेष प्रसंगवश

प्रसंगवश : ज्ञानेन्द्र शर्मा कोई तीन साल पहले तत्कालीन इस्पात मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा की एक टिप्पणी का जबर्दस्त विरोध करते हुए समाजवादी पार्टी के सदस्यों ने संसद के ...
Comments Off on बेनी बाबू के बोल बनाम मुलायम
sarkari school
दस्तक-विशेष प्रसंगवश

प्रसंगवश : ज्ञानेन्द्र शर्मा इलाहाबाद उच्च न्यायालय के न्यायाधीष श्री सुधीर अग्रवाल की पीठ ने एक ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए पिछले वर्ष 18 अगस्त को सरकारी कर्मियों के बच्चों ...
Comments Off on सरकारी स्कूलों में दाखिले पर हाई कोर्ट के आदेश का क्या होगा?
gyanendra sharma
दस्तक-विशेष प्रसंगवश

 प्रसंगवश : ज्ञानेन्द्र शर्मा भारतीय मतदाता महान है, यह बात बार बार कही गयी है तो भी एक बार फिर कहने का मन कर रहा है। हाल में हुए ...
Comments Off on चुनाव का क ख ग
exchange agreement
प्रसंगवश

प्रसंगवश  भारत और अमेरिका के बीच एक ऐसा रक्षा समझौता हुआ है जिसके मूल मुद्दों पर दसियों साल से भारत में विरोध होता रहा है। लेकिन हैरानी की ...
Comments Off on एक विवादास्पद फैसला
chhoti bachat
प्रसंगवश

प्रसंगवश  भारतीय जनता पार्टी के नेता नरेन्द्र मोदी काले धन पर तरह तरह के वादे उस समय से करते रहे हैं जब वे 2014 के चुनाव के लिए ...
Comments Off on छोटी बचतों पर कुठाराघात
shri shri
प्रसंगवश

प्रसंगवश क्या आपको याद पड़ता है कि आपने कब से अपनी पत्नी से-‘आई लव यू’ नहीं कहा? उत्तर 1: आज तक कभी नहीं कहा। उत्तर 2: शादी के ...
Comments Off on श्री श्री, बाबा और आई लव यू
Untitled-1 copy
प्रसंगवश

प्रसंगवश आला आई0ए0एस0 अफसरों के सालाना जल्से में उन्हें सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने चेतावनी भरे अंदाज में कहा, मैं फेल हुआ तो आप जिम्मेदार होंगे। ...
Comments Off on पारी अफसरों की
smilingh
प्रसंगवश

प्रसंगवश साल दर साल अनेक लोग अपने घरों की जवान-बूढ़ी विधवाओं को वृन्दावन के रेलवे स्टेशन पर छोड़कर नदारत हो जाते हैं। वे कभी लौटकर यह देखने नहीं ...
Comments Off on वर्षों बाद कुछ थोड़ी ही मुस्कराहट
taki sanad rahe
प्रसंगवश

प्रसंगवश यह अलग किस्म का दीक्षान्त समारोह है, जो अखिल भारतीय राजनीतिक विश्वविद्यालय के तत्वावधान में आयोजित हो रहा है और जिस प्रांगण में यह आयोजित हो रहा ...
Comments Off on ताकि सनद रहे