BIG Breaking: विश्व भारती यूनिवर्सिटी ने तोड़ी अपनी सालों पुरानी परंपरा, पहली बार सीएम को किया आमंत्रित

परंपरा को तोड़ते हुए विश्व भारती विश्वविद्यालय ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को शुक्रवार को होने वाले दीक्षांत समारोह में आमंत्रित किया है। इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना भी हिस्सा लेंगी। 1970 में सिद्धार्थ शंकर रे के बाद यह पहली बार है जब बंगाल का कोई मुख्यमंत्री दीक्षांत समारोह में शामिल होगा। हालांकि उस समय रे को मंच पर आमंत्रित नहीं किया गया था।  

शुक्रवार को होने वाले दीक्षांत समारोह में लगभग 10,000 स्नातकोत्तर और 1,000 पीएचडी छात्रों को डिग्री प्रदान की जाएगी। शांतिनिकेतन बेस्ड विश्विद्यालय के कार्यकारी उप-कुलपति साबुजीकली सेन ने कहा, आमतौर पर कुलपति, उप-कुलपति और रेक्टर दीक्षांत समारोह के दौरान मंच पर उपस्थित रहते हैं। स्वर्गीय सिद्धार्थ शंकर रे पश्चिम बंगाल के पहले मुख्यमंत्री थे जिन्होंने 1975 और 1976 में इस कार्यक्रम में हिस्सा लिया था। ममता बनर्जी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के साथ मंच साझा करेंगी। इस मौके पर विश्विद्यालय के रेक्टर और राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी भी मौजूद रहेंगे।

शांतिनिकेतन पहुंचने पर ममता बनर्जी ने कहा, ‘मैं इस बात से अनभिज्ञ थी कि मैं मंचासीन होने वाली बंगाल की पहली सीएम हूं।’ विश्व भारती अकेला ऐसा केंद्रीय विश्वविद्यालय है जिसके कुलपति खुद देश के प्रधानमंत्री होते हैं। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने आखिरी बार साल 2008 में दीक्षांत समारोह में हिस्सा लिया था। उप-कुलपति ने कहा, ‘कुछ कारणों की वजह से पिछले पांच सालों से दीक्षांत समारोह नहीं हो रहा था।’ दीक्षांत समारोह में हिस्सा लेने के बाद ममता और दोनों प्रधानमंत्री कैंपस में बने बांग्लादेश भवन का उद्घाटन करेंगे।