Breaking News

दस्तक-विशेष

अद्धयात्म दस्तक-विशेष

एक बार फिर तीर्थराज प्रयाग में आस्था की डुबकी लगने वाली है। आस्था, विश्वास, सौहार्द एवं संस्कृतियों के मिलनसारिता के पर्व “कुम्भ” की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। ...
Comments Off on सभी को सिद्धी प्रदान करने वाला कुम्भ
उत्तर प्रदेश दस्तक-विशेष राजनीति

कहा जाता है कि देश में सरकार बनाने का रास्ता उत्तर प्रदेश से ही होकर जाता है। यही वजह है कि देश को अब तक सबसे ज्यादा प्रधानमंत्री भी ...
Comments Off on भाजपा का विजय रथ रोकने की तैयारी
दस्तक-विशेष राजनीति

एक वह भी दौर था जब ‘वे’ दिन को रात कहते थे तब भी सभी उनकी हां में हां मिला दिया करते थे। यह दौर लगभग साढ़े चार ...
Comments Off on ‘हनक’ छीन ले गए राज्यों के चुनाव
BREAKING NEWS TOP NEWS दस्तक-विशेष राजनीति

नई दिल्ली : प्रियंका गाँधी को कांग्रेस पार्टी का महासचिव बनाया गया है। प्रियंका गांधी अब उत्तर प्रदेश की राजनीति को देखेंगी। प्रियंका के अलावा मध्य प्रदेश सरकार ...
Comments Off on प्रियंका गांधी : आखिर आ ही गईं राजनीति में, बेसब्री से इंतजार कर रहे थे कार्यकर्ता
जितेंद्र शुक्ल दस्तक-विशेष राजनीति

माफ  कीजिएगा, वन डे क्रिकेट में छक्का स्लॉग ओवरों (अंतिम के दस ओवर) में ही लगता है। ….और चिन्ता मत करिए ऐसे कई और छक्के अभी लगने वाले ...
Comments Off on ‘मोदी का मास्टर स्ट्रोक’
दस्तक-विशेष स्तम्भ

फिरोज बख्त अहमद : कुछ समय पूर्व अयोध्या में विश्व हिन्दू परिषद्, शिवसेना, भाजपा, धर्मसंसद आदि के कार्यकर्ता एकत्र हुए कि राम जन्म भूमि पर एक भव्य राम ...
Comments Off on राम मंदिर बनाम राजनीति
दस्तक-विशेष स्तम्भ

फिरोज बख्त अहमद : पढ़ने व सुनने में एवं देखने में आ रहा कि धर्म की तिजारत करने वाली राजनीति की खतरनाक भूमिका रही है। जिन मुस्लिम नेताओं ...
Comments Off on आज भी भारत में साम्प्रदायिकता का जहर समाप्त नहीं हुआ है
दस्तक-विशेष स्तम्भ

नई दिल्ली : आलोक वर्मा की सीबीआई निदेशक पद पर बहाली के उच्चतम न्यायालय के आदेश के बाद साफ था कि सरकार पर तीखे राजनीतिक हमले होंगे और ...
Comments Off on …आखिर विकल्प क्या था
अद्धयात्म दस्तक-विशेष साहित्य स्तम्भ हृदयनारायण दीक्षित

शतपथ ब्राह्मण में प्रश्न है – “मनुष्य को कौन जानता है?” मनुष्य को दूसरा मनुष्य नहीं जान सकता। प्रत्येक मनुष्य अनूठा है। अद्वितीय है। उस जैसा दूसरा मनुष्य ...
Comments Off on ‘बड़ा रहस्यपूर्ण है ‘स्वयं’, सोचता हूं कि क्या मेरा व्यक्तित्व दो ‘स्वयं’ से बना है, एक देखता है, दूसरा दिखाई पड़ता है’
अद्धयात्म दस्तक-विशेष साहित्य स्तम्भ हृदयनारायण दीक्षित

जीवन को भरपूर देखते हुए वायु को भी देखा जा सकता है। हम आधुनिक लोगों ने वायु को दूषित किया है। वायु की काया चोटहिल है। भारत की ...
Comments Off on वायु प्राण है, प्राण नहीं तो जीवन नहीं