Thursday, June 21, 2018 - 1:55 AM
Breaking News

साहित्य

अन्तर्राष्ट्रीय फीचर्ड साहित्य

पोलिश : ओल्गा टोकारजुक को उनके उपन्यास ‘फ्लाइट्‌स’ के लिए इस वर्ष का बुकर पुरस्कार दिया गया है। यह उपन्यास समय, अंतरिक्ष और मानव शरीर रचना पर आधारित ...
Comments Off on पोलिश उपन्यासकार ओल्गा टोकारजुक को ‘फ्लाइट्‌स’ के लिए बुकर पुरस्कार से नवाजा गया
अद्धयात्म फीचर्ड साहित्य स्तम्भ

  प्रत्येक धर्म विश्वास पर बल देता है। धर्म पर ऑख बंद कर विश्वास करने की परंपरा हमने विरासत मे पाई हैं।इस कारण हमारे धार्मिक तर्क प्राय: अधूरे ...
Comments Off on धर्म बातो का विषय नही है- वह तो प्रत्यक्ष अनुभूति का विषय हैं
साहित्य

ललित कलाओं के प्रशिक्षण, प्रदर्शन एवं शोध की अग्रणी संस्था स्पंदन द्वारा सुपरिचित कथाकार, उपन्यासकार, कवि पंकज सुबीर के बहुचर्चित ग़ज़ल संग्रह ‘‘अभी तुम इश्क़ में हो’’ पर ...
Comments Off on अभी तुम इश्क़ में हो का लोकार्पण
साहित्य स्तम्भ

कर्म इच्छा प्रेरित होते हैं। हम सब के भीतर अनेक अभिलाषाएं हैं। वे कर्म के लिए प्रेरित करती हैं। हम बिना कर्म किए रह नहीं सकते। महाआलसी भी ...
Comments Off on बड़ा प्रश्न, आखिर आत्मज्ञान था क्या?
अजब-गजब साहित्य

अंकल ने नहाने के कपड़े बगल में दबाते हुए कहा, ‘रोहन! थर्मामीटर रख लेना। आज कुएं का बुखार नापना है? देखते हैं कुएं को कितना बुखार चढ़ा है?’ ...
Comments Off on कहानी : कुएं को बुखार
अजब-गजब साहित्य स्तम्भ

हिन्दी विरोध वस्तुत: भाषा और साहित्य के कारण से नहीं, परन्तु आर्थिक-सामाजिक-राजनैतिक कारणों से होता है। पूर्वांचल में, असम में और बंगाल मारवाड़ी व्यापारियों का विरोध हिन्दी-विरोध का ...
Comments Off on हिन्दी के शत्रु : सत्ता, सम्पत्ति एवं सँस्थाएं : प्रभाकर माचवे
अजब-गजब साहित्य

कहीं बुत लगाए और कहीं गिराए जाते हैं, इस तरह भी लोगो को मुद्दे भुलाए जाते हैं। नाम ले कर भगवान का तो कभी शैतान का, फिर अपनों ...
Comments Off on बुत लगाए और कहीं गिराए जाते हैं
अजब-गजब साहित्य

सम्भालो पर्यावरण, ना तुम प्रदूषण फैलाओ। अपना और अपनों का यह जीवन बचाओ। मिल कर बचाए वृक्ष ,धरती, हवा और पानी को, ज़रूरत है इस की हर जीव-जंतु ...
Comments Off on कविता : सम्भालो पर्यावरण
अजब-गजब राष्ट्रीय साहित्य

पुस्तक समीक्षा : देश में राष्ट्रवाद से जुड़ी बहस इन दिनों चरम पर है। राष्ट्रवाद की स्वीकार्यता बढ़ी है। उसके प्रति लोगों की समझ बढ़ी है। राष्ट्रवाद के ...
Comments Off on राष्ट्रवाद से जुड़े विमर्शों को रेखांकित करती एक किताब
अजब-गजब फीचर्ड साहित्य स्तम्भ

अस्तित्व पूर्ण है। इसका प्रकट भाग पूर्ण है और अप्रकट भी। प्रकृति इसकी पूर्ण अभिव्यक्ति है। इसलिए पूर्णता का आस्वाद भी आनंददायी होना चाहिए। अभिव्यक्ति के अनेक आयाम ...
Comments Off on जीवन को मुग्ध करती है रूप, रस, गंध और ध्वनि