स्तम्भ

दस्तक-विशेष स्तम्भ

बृजनन्दन राजू स्तम्भ : युवाओं के लिए मर्यादा पुरूषोत्तम अयोध्या के राजा राम से बढ़कर कोई आदर्श नहीं हो सकता। राम ने अपने जीवन का स्वर्णिम समय ‘तरूणाई’ ...
Comments Off on युवाओं के आदर्श ‘राम’
दस्तक-विशेष स्तम्भ

स्तम्भ : नारी ही नारायणी है। सृष्टि की आद्य शक्ति है,पालकर्ता व संहारकर्ता के रूप में भी जानी जाती है। इस आद्यशक्ति को हम लक्ष्मी, सरस्वती और महाकाली ...
Comments Off on अंतिम साँसों तक अंग्रेजों से लड़ने वाली वीरांगना अवंतीबाई
दस्तक-विशेष स्तम्भ

बृजनन्दन राजू सपा,  बसपा के 15 साल पर भारी योगी के तीन साल उत्तर प्रदेश की योगी सरकार अपने कार्यकाल के सफलतापूर्वक तीन साल पूरे कर रही है। ...
Comments Off on योगी के तीन साल, बेमिसाल
दस्तक-विशेष स्तम्भ

बृजनन्दन राजू स्तम्भ : विदेशी आक्रान्ताओं ने जब से भारत की धरती पर पैर रखा तब से हिन्दुओं का प्रतिकार संग्राम अविरत और अखण्ड चलता रहा। महाराजा दाहिर ...
Comments Off on अपराजेय योद्धा छत्रपति शिवाजी
अन्तर्राष्ट्रीय दस्तक-विशेष स्तम्भ

के. विक्रम राव लखनऊ: अटलांटिक सागर के पूर्व तथा पश्चिम में यौन संबंधों का पैमाना जमीन आसमान के फर्क वाला है| गौर कीजिये आज ही सुर्खी बनी है ...
Comments Off on निर्बाध यौनकर्म कितना मान्य ?
दस्तक-विशेष स्तम्भ

बृजनन्दन राजू आखिर कब मिलेगी भाषाई दासतां से मुक्ति स्तम्भ : देश को अंग्रेजों से आजादी मिलने के बाद शिक्षा के क्षेत्र में निश्चित ही भारत ने बहुत ...
Comments Off on मातृभाषा में होनी चाहिए शिक्षा
दस्तक-विशेष स्तम्भ हृदयनारायण दीक्षित

हृदयनारायण दीक्षित स्तम्भ : काम प्रकृति में सर्वव्यापी है। प्राकृतिक है। प्रकृति की सृजनशक्ति है। प्रत्येक शक्ति का नियमन भी होता है। नियमविहीन शक्ति अराजकता में प्रकट होती ...
Comments Off on काम कामनाओं का बीज है
दस्तक-विशेष स्तम्भ हृदयनारायण दीक्षित

हृदयनारायण दीक्षित स्तम्भ : राष्ट्र प्राचीन वैदिक धारणा है और नेशन आधुनिक काल का विचार है। राष्ट्र के लिए अंग्रेजी भाषा में कोई समानार्थी शब्द नहीं है। ई.एच. ...
Comments Off on नेशन और राष्ट्र पर्यायवाची नहीं हैं
दस्तक-विशेष स्तम्भ हृदयनारायण दीक्षित

हृदयनारायण दीक्षित स्तम्भ : भूमि और सभी प्राणी परस्पर अन्तर्सम्बन्धित हैं। यह नेह मां और पुत्र जैसा है। वैदिक साहित्य में इस सम्बंध का अनेकशः उल्लेख है। वैदिक ...
Comments Off on वृक्ष, वनस्पति औषधि के रूप में हमारी सेवा करते हैं
ज्योतिष दस्तक-विशेष स्तम्भ हृदयनारायण दीक्षित

हृदयनारायण दीक्षित स्तम्भ : काव्य में भाव अभिव्यक्ति की प्रमुखता होती है और विज्ञान में प्रत्यक्ष सिद्धि की। विज्ञान में पृथ्वी सौर मण्डल का ग्रह है। पृथ्वी पर ...
Comments Off on कविता और विज्ञान एक साथ नहीं मिलते