IT कंपनी इंफोसिस ने कहा- एक साल में 18,000 लोगों को देगी नौकरी

देश की दिग्गज आईटी कंपनी इंफोसिस ने कहा कि चालू वित्त वर्ष में वह 18,000 लोगों को नौकरी देगी। इंफोसिस के मुख्य परिचालन अधिकारी यूबी प्रवीण राव ने कहा कि चालू तिमाही में हम 8,000 लोगों नौकरी पर रखने के करीब हैं। इसमें से करीब 2,500 फ्रेशर्स हैं। पूरे साल में हम करीब 18,000 लोगों को नौकरियां देंगे। इसमें बड़ी संख्या विश्वविद्यालयों से होने वाले कैंपस प्लेसमेंट की होगी। इंफोसिस के कर्मचारियों की संख्या 2.29 लाख से ज्यादा है।

कंपनी को हुआ 3,802 करोड़ रुपये का मुनाफा
वित्त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही के दौरान 5.2 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ इंफोसिस ने 3,802 करोड़ रुपये का मुनाफा दर्ज किया। वहीं कंपनी ने 13.9 फीसदी की बढ़त के साथ 21,803 करोड़ रुपये की आय हुई।

यह रहा इंफोसिस का हाल
वित्त वर्ष 2020 की पहली तिमाही में इंफोसिस का मुनाफा, 31 मार्च को समाप्त हुई तिमाही के आधार पर 6.8 फीसदी घटकर 3,802 करोड़ रुपये रहा है। वहीं अगर इसकी तुलना पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही से करें तो फिर इसमें पांच फीसदी का लाभ हुआ है। कंपनी की डॉलर से होने वाली आय में 2.3 फीसदी की बढ़ोतरी देखी गई और यह 313.1 करोड़ डॉलर रहा है। तिमाही आधार पर पहली तिमाही में इंफोसिस का एबिट 4,618 करोड़ रुपये से घटकर 4,471 करोड़ रुपये और एबिट मार्जिन 21.4 फीसदी से घटकर 20.5 फीसदी रहा है। 2019-20 के लिये स्थिर मुद्रा के आधार पर अपनी आय वृद्धि का अनुमान बढ़ाकर 8.5 -10 फीसदी कर दिया है। अप्रैल तिमाही में कंपनी ने चालू वित्त वर्ष में आय में 7.5-9.5 फीसदी वृद्धि का अनुमान जताया था।

पहली तिमाही में कंपनी के डिजिटल कारोबार की आय 1.12 अरब डॉलर रही है जो कंपनी की कुल आय का 35.7 फीसदी है। कंपनी ने पहली तिमाही में 2.7 अरब डॉलर के बड़े डील किए हैं। कंपनी का वित्तीय परिणाम बाजार बंद होने के बाद जारी किया गया।

कंपनी के मुख्य कार्यपालक अधिकारी और प्रबंध निदेशक सलिल पारेख ने कहा कि हमने 2019-20 में अच्छी शुरूआत की है। इसका कारण ग्राहकों पर हमारा निरंतर ध्यान है और हम उन पर निवेश करते हैं। उन्होंने कहा कि इस आधार पर हमने हमने 2019-20 के लिये आय अनुमान 7.5-9.5 फीसदी से बढ़ाकर 8.5-10 फीसदी कर दिया है।