J&K: मुठभेड़ों में 5 आतंकी ढेर, 3 जवान शहीद, 6 नागरिकों की मौत

रियासत में रविवार को दो आपरेशनों में पांच आतंकी मार गिराए गए। तीन जवान शहीद हो गए। इस दौरान मुठभेड़ स्थल पर विस्फोट में छह नागरिक भी मारे गए हैं। दो दर्जन से अधिक नागरिक घायल हुए हैं। दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम में मुठभेड़ तो राजोरी जिले के सुंदरबनी में एलओसी पर घुसपैठ की कोशिश को नाकाम बनाया गया है। राज्यपाल ने विस्फोट में मारे गए लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त किया है। साथ ही मारे गए लोगों के परिवार वालों को एक लाख रुपये तत्काल सहायता की घोषणा की है।

दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम जिले के लारू गांव में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना पर सुरक्षा बलों ने शनिवार देर रात तलाशी अभियान चलाया। इस दौरान एक मकान में छिपे आतंकियों ने घेरा सख्त होता देख सुरक्षा बलों पर फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में तीन आतंकी मार गिराए गए। इनकी शिनाख्त शोपियां जिले के वानगाम के शाहिद उल इस्लाम तांत्रे, कुलगाम जिले के आरवानी के याजिल मकरू व अवाहतू के जुबैर लोन के रूप में हुई है। तीनों जैश के आतंकी बताए जाते हैं।

मुठभेड़ समाप्त होने के बाद जब सुरक्षा बल के जवान वहां से चले गए तो काफी संख्या में स्थानीय लोग उस मकान को देखने के लिए पहुंचे, जहां आतंकी छिपे थे। बताते हैं कि इसी दौरान मलबे में दबा आतंकियों का ग्रेनेड विस्फोट कर गया। इसमें दो दर्जन से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। इनमें से छह की मौत हो गई। मृतकों की शिनाख्त उबैद अहमद, इरशाद अहमद, तजमुल अहमद, साकिब अहमद और मसरूर अहमद (10) के रूप में हुई है।

डीजीपी दिलबाग सिंह ने विस्फोट में छह लोगों के मारे जाने की पुष्टि की है। बताया कि हिदायतों तथा मना करने के बाद भी लोग मुठभेड़ स्थल तक पहुंचे। इस दौरान मलबे में दबा आतंकियों का ग्रेनेड फटने से कई लोग घायल हो गए। इन्हें अनंतनाग व श्रीनगर के अस्पताल में पहुंचाया गया। उन्होंने मुठभेड़स्थल से दूर रहने की लोगों से अपील की है ताकि किसी प्रकार का जानी नुकसान न होने पाए।

वहीं, राजोरी जिले में एलओसी पर सुंदरबनी सेक्टर में सेना ने घुसपैठ की कोशिश को नाकाम करते हुए दो घुसपैठियों को मार गिराया। रविवार को दोपहर लगभग पौने दो बजे पेट्रोलिंग पार्टी ने एलओसी पर संदिग्ध हलचल देखी। पाया कि आतंकियों का एक ग्रुप घुसपैठ की कोशिश कर रहा है। ललकारने पर आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में दो आतंकी मार गिराए गए। पूरे इलाके की घेराबंदी कर सर्च आपरेशन चलाया जा रहा है। मुठभेड़ में तीन जवान भी शहीद हुए हैं, जबकि एक जवान गंभीर रूप से जख्मी हुआ है। जख्मी जवान को एयरलिफ्ट कर उधमपुर कमांड अस्पताल पहुंचाया गया है।

शहीद सभी जवान जम्मू कश्मीर के
सुंदरबनी में घुसपैठ नाकाम करने के दौरान शहीद होने वाले तीनों जवान जम्मू-कश्मीर के रहने वाले हैं। इनमें हवलदार कौशल कुमार (निवासी-डींग, नौशेरा), लायंस नायक रंजीत सिंह (गाम-रामबन) व राइफलमैन रजत कुमार बसन (पलावालां) शामिल हैं। घायल जवान राइफलमैन राकेश कुमार (सांबा) का इलाज चल रहा है।

बैट के सदस्य हो सकते हैं मारे गए घुसपैठिए

सैन्य सूत्रों का कहना है कि मारे गए घुसपैठिए बैट (बार्डर एक्शन टीम) के सदस्य हो सकते हैं। इसमें पाकिस्तानी सेना के जवान और प्रशिक्षित आतंकी होते हैं। माना जा रहा है कि मारे गए बैट के सदस्य थे।

नवीद जट भागने में रहा सफल
सेना की 9 राष्ट्रीय राइफ ल्स को शनिवार देर रात लारू इलाके में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिली थी। इसके बाद सीआरपीएफ व एसओजी के साथ मिलकर घेराबंदी शुरू की गई। सूत्रों का कहना है कि यहां लश्कर आतंकी नवीद जट भी था। घेराबंदी होते ही वह मौका देख भाग निकलने में सफल रहा।