#MeToo: कांग्रेस ने प्रधानमंत्री मोदी की चुप्पी पर उठाए सवाल, जाने क्या है सवाल

नई दिल्ली : कांग्रेस ने विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर के खिलाफ कुछ महिलाओं द्वारा यौन उत्पीड़न का आरोप लगाए जाने को लेकर सोमवार को फिर नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा और सवाल किया कि क्या प्रधानमंत्री पीड़ित महिलाओं के साथ हैं? पार्टी ने यह भी पूछा कि क्या अकबर पर आरोप लगाने वाली एक महिला पत्रकार के खिलाफ मानहानि का मामला दर्ज कराए जाने के पीछे प्रधानमंत्री मोदी का हाथ है? कांग्रेस प्रवक्ता आरपीएन सिंह ने कहा, प्रधानमंत्री के कैबिनेट के एक व्यक्ति पर इस तरह का गंभीर आरोप लगा है| कोई एक व्यक्ति ने नहीं, बल्कि 14 महिलाओं ने मंत्री पर आरोप लगाए हैं| हम प्रधानमंत्री जी से पूछना चाहते हैं कि इस मसले पर आपकी क्या सोच है? आपके क्या विचार हैं? जो महिलाएं उत्पीड़ित हुई हैं, उनके लिए आपके पास कहने के लिए क्या है? उन्होंने कहा, अफसोस है कि हमने उत्तर प्रदेश में देखा, एक भाजपा के विधायक पर बलात्कार का गंभीर आरोप लगता है, न तो उस व्यक्ति को पार्टी से निकाला जाता है, न प्रधानमंत्री उस पर कुछ कहते हैं| इसी तरह से तमाम मसले जो बच्चियों पर, बेटियों पर, हमारी बहनों पर हुए हैं, प्रधानमंत्री ने एक बार भी एक शब्द नहीं कहा, ट्वीट तक नहीं किया| दूसरी ओर प्रधानमंत्री जी बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ की बात करते हैं| आरपीएन सिंह ने कहा, क्या मंत्री जी ने आज जो मामला दर्ज किया है, इस पर हमारा साफ तौर से प्रधानमंत्री जी से सवाल है कि क्या इसके पीछे आपका हाथ है? गौरतलब है कि कई महिला पत्रकारों ने ‘मी टू’ अभियान के तहत अकबर पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं| अकबर ने आरोपों को खारिज करते हुए कहा है कि लोकसभा चुनाव से कुछ महीने पहले उनकी छवि धूमिल करने की कोशिश की जा रही है|