YOGA DAY: योग करने से पहले PM मोदी बोले- जब तोड़ने वाली ताकतें हावी होती हैं तो योग जोड़ता है

भारत की पहचान कहे जाने वाले ‘योग’ का पर्व आज दुनियाभर में मनाया जा रहा है. चौथे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर देश भर में कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद उत्तराखंड के देहरादून में योग किया. पीएम मोदी के साथ करीब 55 हजार लोग मौजूद रहे. इसके अलावा देशभर में कई जगह केंद्रीय मंत्रियों, राज्य के मुख्यमंत्रियों, खिलाड़ी, जवान समेत अन्य हस्तियों ने योग के कार्यक्रमों में शिरकत की. योगगुरु रामदेव ने राजस्थान के कोटा में करीब 2 लाख से अधिक लोगों के साथ योग कर गिनीज बुक वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया.

योग करने से पहले प्रधानमंत्री ने यहां पर लोगों को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि जब तोड़ने वाली ताकतें हावी होती हैं तो बिखराव आता है, समाज में दीवारें खड़ी होती हैं परिवार में कलह बढ़ता है और जीवन में तनाव बढ़ता चला जाता है. इस बिखराव के बीच योग जोड़ने का काम करता है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा मंच पर चार लोग मौजूद हैं, जिनमें राज्यपाल डॉक्टर के.के पॉल, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत, केंद्रीय आयुष मंत्री और उत्तराखंड के आयुष मंत्री हरक सिंह रावत शामिल हैं.

योग दिवस के मौके पर पीएम मोदी का संबोधन

योग दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि दुनियाभर के योग प्रेमियों को योग दिवस की बधाई. उत्तराखंड पिछले कई दशकों से योग का केंद्र रहा है, इसलिए ये पर्व यहां के लिए काफी बड़ा है. पीएम ने कहा कि ये हम भारतीयों के लिए गौरव की बात है कि पूरी दुनिया में योग का पर्व मनाया जा रहा है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज दुनिया के हर बड़े शहर में सिर्फ योग ही योग है. भारत में भी हिमालय से लेकर राजस्थान तक योग फैल गया है. उन्होंने कहा कि जब तोड़ने वाली ताकतें हावी होती हैं तो बिखराव आता है, समाज में दीवारें खड़ी होती हैं परिवार में कलह बढ़ता है और जीवन में तनाव बढ़ता चला जाता है. इस बिखराव के बीच योग जोड़ने का काम करता है.

पीएम बोले कि आज की आपाधापी में योग व्यक्ति के जीवन में शांति की अनुभूति कराता है. व्यक्ति को परिवार से जोड़कर शांति स्थापित करता है और साथ लाता है. प्रधानमंत्री ने कहा कि जब हम अपनी विरासत पर गर्व करेंगे तभी पूरी दुनिया इसे स्वीकार करेगी. आज पूरी दुनिया में ऐसा माहौल है जो योग के लिए सभी को बढ़ावा देता है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि योग व्यक्ति-परिवार-समाज-देश-विश्व और सम्पूर्ण मानवता को जोड़ता है. योग आज दुनिया की सबसे Powerful Unifying Forces में से एक बन गया है. आज हमारे दुनिया में ऐसे करोड़ों लोग हैं जो कि हार्ट की बीमारी से ग्रसित हैं ऐसे में योग उन बीमारियों को दूर करने में भी मदद करता है. उन्होंने कहा कि योग के कारण दुनिया आज illness से wellness की तरफ बढ़ रही है.

बड़े अपडेट्स:

08.17 AM: देहरादून में योग करने के बाद प्रधानमंत्री ने लोगों से मुलाकात की.

08.13 AM: रेसलर सुशील कुमार ने भी योग दिवस पर योग किया, उन्होंने अपने ट्विटर पर तस्वीरें जारी की.

07.57 AM: इंडियन नेवल शिप शायद्री पर जवानों ने योग किया.

07.46 AM: CISF के जवानों ने नई दिल्ली, मुंबई और हैदराबाद में योग किया.

07.45 AM: वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने उत्तर प्रदेश के नोएडा में योग किया.

07.41 AM: राजस्थान में योग दिवस के मौके पर योगगुरु रामदेव ने योग किया. इस दौरान वहां पर दो लाख से अधिक लोग मौजूद रहे.

07.39 AM: महाराष्ट्र के गवर्नर विद्यासागर राव ने राजभवन में योग किया.

07.36 AM: संयुक्त राष्ट्र की तरफ से भी योग दिवस पर भव्य आयोजन किया गया, इस दौरान यूएन हेडक्वार्टर पर सैकड़ों लोगों ने योग किया.

07.33 AM: 18 हजार फीट की ऊंचाई पर हिमवीरों ने हठ योग किया. हिम मरुस्थल समझे जाने वाले लद्दाख में चौथे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर आईटीबीपी जवानों ने सूर्य नमस्कार किया. वहीं रोहतांग दर्रे के पास लगभग 13200 फीट की ऊंचाई पर आईटीबीपी के जवानों ने भी योग किया.

07.06 AM: लखनऊ में राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत का योग पूरी दुनिया में स्वीकार्य हुआ है. उन्होंने कहा कि अमेरिका सबसे प्रगतिशील देश है लेकिन अब वहां की लाइफ़ स्टाइल में योग शामिल हुआ है. उन्होंने कहा कि योग का इतिहास बहुत पुराना है. उन्होंने कहा कि दुनिया में 46 इस्लामिक देश योग को मान्यता दे चुके हैं.

06.47 AM: पीएमओ की तरफ से ट्वीट किया गया देहरादून का ये नज़ारा

06.42 AM: वाइस एडमिरल करमबीर सिंह ने अपने साथियों के साथ आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में योग किया.

06.37 AM: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देहरादून के Forest Research Institute of Dehradun में कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे.

06.36 AM: गुजरात के अहमदाबाद में बड़ी संख्या में योग करने के लिए लोग मौजूद, मुख्यमंत्री विजय रुपाणी भी पहुंचे.

06.35 AM: देहरादून में योग करने से पहले लोगों को भी संबोधित करेंगे पीएम मोदी

06.32 AM: कोटा में योगगुरु रामदेव के कार्यक्रम में राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे भी मौजूद

06.25 AM: देशभर में 5000 से ज्यादा योग के बड़े कार्यक्रमों का आयोजन

06.21 AM: योगगुरु रामदेव कोटा के मैदान में मौजूद, 2.5 लोग से अधिक लोग एक साथ करेंगे योग

06.11 AM: नई दिल्ली के राजपथ पर हजारों लोग मौजूद, एक साथ करेंगे योग.

कौन कहां पर मौजूद?

राजनाथ सिंह – लखनऊ

नितिन गडकरी – नागपुर

सुरेश प्रभु – चेन्नई

उमा भारती – रुद्रप्रयाग

रामविलास पासवान – हाजीपुर

रविशंकर प्रसाद – पटना

क्या है योग दिवस का इतिहास?

गौरतलब है कि यह PM मोदी का ही प्रयास था जिस कारण 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाने लगा. PM मोदी ने 27 सितंबर, 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने संबोधन में योग को अंतरराष्ट्रीय पहचान देने की बात रखी.

इसके बाद 11 दिसंबर 2014 को यूएन में 177 सदस्य देशों ने 21 जून को इस दिवस के रूप में अपनी सहमति जता दी. मोदी के इस प्रस्ताव को महज 90 दिनों के अंदर पूर्ण बहुमत से पारित किया गया, जो यूएन में किसी दिवस प्रस्ताव के लिए सबसे कम समय का रिकॉर्ड है.

आपको बता दें कि ये चौथा योग दिवस है. इससे पहले भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अलग-अलग शहरों में जाकर योग दिवस मनाया था. पीएम मोदी ने पहला योग दिवस दिल्ली में, दूसरा योग दिवस चंडीगढ़ में, तीसरा योग दिवस लखनऊ में मनाया था.

कोटा में बाबा रामदेव के साथ 2 लाख लोगों ने एक साथ योग कर वर्ल्ड रिकॉर्ड बना दिया है. योगाभ्यास के दौरान यहां एक व्यक्ति ने 1 घंटे 3 मिनट तक शीर्षासन किया. पिछला रिकॉर्ड 1 घंटे का था. साथ ही एक व्यक्ति ने ढाई हजार पुशअप्स लगाए. कोटा में बाबा रामदेव के साथ योग सत्र में राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी हिस्सा लिया.