National News - राष्ट्रीयPolitical News - राजनीतिState News- राज्य

‘किसान सबक सिखाना भी जानता है कोई भुलावे में ना रहे: राकेश टिकैत

नई दिल्ली । तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों का आंदोलन अभी खत्म नहीं हुआ है। इस बीच भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा है कि ‘किसान संसद से किसानों ने गूंगी -बहरी सरकार को जगाने का काम किया है। किसान संसद चलाना भी जानता है और अनदेखी करने वालों को गांव में सबक सिखाना भी जानता है। भुलावे में कोई न रहे।’ राकेश टिकैत ने किसानों से एकजुट रहे की अपीलन की है। संसद का मॉनसून सत्र चल रहा है। इस बीच दिल्ली के जंतर-मंतर पर ‘किसान संसद’ भी चल रहा है।

‘किसान संसद’ के तीसरे दिन राकेश टिकैत ने यह बात मकही है। किसान नेताओं का दावा है कि किसान संसद के दौरान हर रोज 200 किसान यहां पहुंच रहे हैं। जब तक संसद का सत्र चलेगा तब तक ‘किसान संसद’ भी चलेगी। किसान अपनी बात से पीछे नहीं हटेंगे। गुरुवार से किसानों का यह संसद चल रहा है और वहां पुलिस ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये हैं। किसान संसद’ को लेकर किसानों का कहना है कि इससे सरकार को यह पता रहेगा कि आंदोलन अभी जिंदा है। किसानों का कहना है कि कई किसान दिल्ली के विभिन्न बॉर्डरों पर पिछले 8 महीने से तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं, लेकिन सरकार उनकी बातें सुनने के लिए राजी नहीं है। किसानों की योजना है कि यह किसान संसद 13 अगस्त तक आयोजित की जाएगी।

13 अगस्त को ही मॉनसून सत्र खत्म हो रहा है। हालांकि, दिल्ली के लेफ्टिनेंट गवर्नर अनिल बैजल ने किसानों को 9 अगस्त तक ही प्रदर्शन करने की इजाजत दी है। राकेश टिकैत पहले कह चुके हैं किसान संसद के सदस्यों के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे। अगर संसद में बैठे विपक्षी दल के सदस्य उनकी बातों को संसद के अंदर नहीं उठाते हैं तो किसान ऐसे विपक्षी सांसदों के खिलाफ भी प्रदर्शन करेंगे। राकेश टिकैत ने यह भी कहा था कि इस संसद में किसान तीन कृषि कानूनों के खिलाफ एक प्रस्ताव भी पारित करेंगे।

दिल्ली-जयपुर हाईवे स्थित शाहजहांपुर-जयसिंहपुर खेड़ा बार्डर पर दिए जा रहे धरना स्थल पर शनिवार को किसान नेता राकेश टिकैत पहुंचे। यहां उन्होंने कहा कि ‘सरकार कितनी भी कोशिश कर लें, लेकिन किसानों का अंदोलन खत्म नहीं होगा। किसान पूरी तैयारी के साथ आंदोलन पर है तथा अभी यह आंदोलन 35 महीने और चलेगा।’

  1. देश दुनिया की ताजातरीन सच्ची और अच्छी खबरों को जानने के लिए बनें रहेंhttp://dastaktimes.org/ के साथ।
  2. फेसबुक पर फॉलों करने के लिए https://www.facebook.com/dastaklko
  3. ट्विटर पर पर फॉलों करने के लिए https://twitter.com/TimesDastak
  4. साथ ही देश और प्रदेश की बड़ी और चुनिंदा खबरों केन्यूजवीडियो’ आप देख सकते हैं।
  5. youtube चैनल के लिए https://www.youtube.com/channel/UCtbDhwp70VzIK0HKj7IUN9Q

Related Articles

Back to top button