अगर बच्चों में दिखे ये भयंकर बदलाव तो बिलकुल न करें इग्नोर, इस बीमारी से बच्चों की मौत तक हो सकती है

- in स्वास्थ्य

नई दिल्ली : हम आपको खसरा से बचने के उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं। खसरा खासतौर पर बच्चों में होने वाली बीमारी है। यह बच्चों को बहुत जल्द अपना शिकार बनाता है। लोगों में सही तरह से जानकारी न होने के कारण कभी-कभी खसरा बच्चों की मौत का कारण भी बन जाता है।

बच्चों में फैलने वाला खसरा एक संक्रामक रोग है। खसरा पैरामाइक्सोवाइरस परिवार के एक वायरस के कारण फैलने वाली घातक बीमारी है। कुछ देशों में इसे रुबेओला या रुबेला कहते हैं। खसरा छूने से फैलने वाला रोग है। खसरा होने के कारण बच्चों के शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है, जिसके कारण बच्चा फिर कई रोगों से ग्रसित हो जाता है।

खसरा रोग के लक्षण
-तेज बुखार आना
-कफ बनना
-नाक से लगातार पानी बहना
-आंखें लाल हो जाना
-बुखार के 3-4 दिन बाद शरीर पर लाल दाने हो जाना
-लाल दानों में पानी भर जाना
-दानों के आस-पास तेज खुजली होना

खसरा रोग से बचने के लिए ये काम करें

-खसरा रोग से बचने के लिए रसदार फलों का सेवन करें
-तेल-मसाले वाला खाना न खाएं
-ज्यादा नमक का सेवन न करें
-नीम के पत्तों के गर्म पानी ने नहाएं
-बच्चों को खसरा का टीका जरूर लगवाएं