आंध्र प्रदेश: अतामाकुर दौरे से पहले नजरबंद हुए चंद्रबाबू नायडू…

- in TOP NEWS, फीचर्ड, राजनीति

आंध्र प्रदेश में तेलगूदेशम पार्टी के कार्यकर्ताओं पर हो रहे कथित हमले को लेकर गुंटूर जिले के अतमाकुर गांव जाने की कोशिश कर रहे पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू और उनके बेटे को नजरबंद कर दिया गया है। इसरे विरोध में चंद्रबाबू नायडू ने अपने घर पर ही आज सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक भूख हड़ताल का ऐलान किया है। भड़के पार्टी कार्यकर्ता भी विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। सत्तारुढ़ वाईएसआर कांग्रेस और टीडीपी कार्यकर्ताओं के बीच संभावित भिड़ंत को रोकने के लिए बड़ी संख्या में पुलिसबल को तैनात किया गया है।

पिछले तीन महीनों में वाईएसआर कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा हमलों का शिकार होने वाले परिवारों के बीच विश्वास पैदा करने के लिए विपक्ष के नेता एन चंद्रबाबू नायडू बुधवार दोपहर को अतामाकुर गांव का दौरा करने वाले हैं।

वहीं, वाईएसआर कांग्रेस ने भी दावा किया है उनके कार्यकर्ताओं पर टीडीपी के लोगों द्वारा हमले किए गए हैं। जिसके विरोध में वाईएसआर कांग्रेस ने भी चलो अतामाकुर नाम से एक कार्यक्रम शुरू किया है। इससे दोनों पार्टियों के बीच विवाद बढ़ने के आसार हैं।

पुलिस ने अतामाकुर गांव और उसके आसपास के क्षेत्रों में सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा को लागू कर दिया है। गृह मंत्री एम सुचरिता और डीजीपी गौतम सवांग ने टीडीपी नेताओं से अपील की कि वे शहर में कानून व्यवस्था बनाए रखने के आधार पर अतामाकुर का दौरा न करें। पुलिस ने टीडीपी के कई नेता और कार्यकर्ताओं को हाउस अरेस्ट भी किया है।

गुरजला के पुलिस उपाधीक्षक श्रीहरि बाबू ने कहा कि तेलगू देशम पार्टी को चलो अतामाकुर कार्यक्रम के लिए कोई अनुमति नहीं दी गई है। डीजीपी सवांग ने कहा कि कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए और किसी भी स्थिति से निपटने के लिए हमारी पुलिस पूरी तरह से तैयार है।