आतंकी निशाने पर श्रीलंकाई टीम, पाकिस्तान दौरे से पहले मिली धमकी

- in खेल

श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने बुधवार को कहा कि उसे चेतावनी मिली है कि उसकी राष्ट्रीय क्रिकेट टीम पर पाकिस्तान के दौरे के दौरान आतंकी हमला हो सकता है। श्रीलंकाई क्रिकेट बोर्ड ने कहा है कि श्रीलंका के प्रधानमंत्री कार्यालय ने उन्हें ‘स्थिति की दोबारा से जांच करने और सुरक्षा की व्यवस्था की समीक्षा करने की सलाह दी है। श्रीलंकाई टीम को सीमित ओवरों के छह मैचों के दौरे पर पाकिस्तान जाना है। इससे पहले ही आंतकी हमले की धमकी बोर्ड को मिली है।

क्रिकेट बोर्ड ने दौरा रद्द नहीं किया है, लेकिन कहा कि श्रीलंका सरकार के प्राधिकरण से सुरक्षा स्थिति का पुन: आकलन कराया जाएगा। बुधवार को ही सुरक्षा कारणों से 10 खिलाड़ियों के हटने के बाद श्रीलंका ने पाकिस्तान के छह मैचों के दौरे के लिए बुधवार को कमजोर टीम का चयन किया। लाहिरू थिरिमाने ने वनडे अंतरराष्ट्रीय कप्तान दिमुथ करूणारत्ने की जगह ली, जिन्होंने टी-20 कप्तान लसिथ मलिंगा के साथ दौरे पर जाने से इनकार कर दिया था।

मार्च 2009 में लाहौर में टेस्ट मैच के दौरान श्रीलंकाई टीम की बस पर हुए आतंकी हमले के बाद ज्यादातर अंतरराष्ट्रीय टीमों ने पाकिस्तान का दौरा करने से इनकार कर दिया था। तब से कोई भी क्रिकेट टीम पाकिस्तान का दौरा करने से साफ मना कर देती है। 27 सितंबर से शुरू हो रही छह मैचों की सीमित ओवरों की सीरीज से 10 श्रीलंकाई खिलाड़ियों ने हटने का फैसला किया था। इसपर पाकिस्तान के एक मंत्री ने कहा था कि भारत की दबाव के कारण श्रीलंका की टीम पाकिस्तान खेलने नहीं आ रही है।

10 साल पहले पाकिस्तान में श्रीलंकाई टीम की बस पर हुए आतंकवादी हमले से अबतक दहशतजदा है। साल 2009 में पाकिस्तान दौरे पर गई लंकाई टीम की बस पर लाहौर में आतंकियों ने हमला कर दिया था, उस वक्त आतंकियों की गोलीबारी में महेला जयवर्धने, कुमार संगकारा को हल्की चोटें आईं थीं। साथ ही अजंता मेंडिस, समरवीरा और थरंगा परावितर्ना को बम फटने से निकलने वाले टुकड़ों से चोटें आईं थीं। तब से ही कोई भी देश पाकिस्तान में क्रिकेट दौरा करने से मना करता रहा है।