इस लड़की को आँखों में टैटू बनवाना पड़ा महंगा, कुछ समय के लिए हुई अंधी

- in अजब-गजब

यह तो बिलकुल सच है कि हर किसी को टैटू का बेहद क्रेज़ होता है हर कोई नए तरह का टेटू बनवाना चाहता है, अपर क्या कभी अपने अपनी आंख में टैटू बनबाने का ख्याल किया है , सोचिये जरा कैसे होगा यदि आप आंख में टैटू बनबातेँ है तो आज हम इसी विषय पर चर्चा करते है, जहां एक लड़की के लिए टैटू बनवाने का जुनून ही उसके लिए खतरा बन गया. यह लड़की ऑस्ट्रेलिया के न्यू साउथ वेल्स की रहने वाली 24 वर्षीय एंबर ल्यूक पर टैटू बनवाने का ऐसा फितूर सवार है कि उन्होंने अपने शरीर को टैटू से ही ढंक दिया है.वही एंबर अब तक अपने शरीर पर 200 से भी अधिक टैटू बनवा चुकी हैं. एंबर को टैटू मेकिंग की दुनिया में ‘ड्रैगन गर्ल’ के नाम से जाना जाता है, लेकिन टैटू बनवाने का यह जुनून एंबर के लिए एक बड़ा खतरा बन चुका है. असल में यह बात कुछ समय पहले एंबर ने अपनी आंखों में टैटू बनवाकर आंखों का रंग नीला करवाने का फैसला कर लिया था. इसके बाद एंबर ने आंखों में टैटू बनवाकर उनका रंग नीला करवा लिया था, लेकिन इसके कारण वो अंधी हो चुकी थीं.

वही सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एंबर अब तक टैटू बनवाने पर 26,000 डॉलर यानी 18.37 लाख से अधिक रुपये खर्च कर चुकी हैं. एंबर खुद को नीले आंखों वाली सफेद ड्रैगन कहलाना पसंद करती हैं. उन्होंने हाल ही मे आंखों में टैटू बनवाने का अपना अनुभव साझा किया. इसके बारे में उन्होंने बताया कि आंखों में टैटू बनवाना उनके लिए सबसे खतरनाक अनुभव था. इस काम में 40 मिनट लगे थे और इसके बाद वह तीन हफ्तों के लिए अंधी हो चुकी थीं.

जंहा एंबर आगे बताती हैं, ‘मैं इस अनुभव को शब्दों में बयां नहीं कर सकती. जब मेरी आंखों में टैटू का इंक डाला जा रहा था, तब मुझे ऐसा लग रहा था जैसे किसी ने शीशे के 10 नुकीले टुकड़े मेरी आंखों में डाल दिए हैं.’ आंखों में इंक डालने की यह प्रक्रिया साल में चार बार होती थी. यह प्रक्रिया काफी खतरनाक होती है, क्योंकि अगर इस प्रक्रिया में थोड़ी भी गड़बड़ी होती तो एंबर हमेशा के लिए वो अपनी आँखों को खो देती. वही एंबर का कहना है कि वह मार्च 2020 तक अपने पूरे शरीर को टैटू से ढंकना चाहती हैं. एंबर ने सर्जरी के जरिए अपने स्तनों, होठों और भौंह में ट्रांस्फॉर्मेशन भी करवाए हैं, लेकिन अब एंबर अपने शरीर में किसी तरह का मॉडिफिकेशन नहीं करना चाहती हैं. एंबर की मां विक्की ने बताया कि आंखों में टैटू बनवाने के बाद जब उन्होंने पहली बार एंबर को देखा तो वह रो पड़ी.

ऐसा कहा जाता है कि टैटूज को लेकर एंबर की दीवानगी 16 साल की आयु में परवान चढ़ी थी. वही एंबर का मानना है कि टैटू उनकी नकरात्मक ऊर्जा का तोड़ हैं. वह कहती हैं कि उन्हें इस बात की कोई चिंता नहीं है कि वह बूढ़ी होने के बाद कैसी दिखेंगी. एंबर के अनुसार, 70 साल की उम्र में कोई भी इंसान खूबसूरत नहीं दिखता. एंबर के लिए उनके टैटूज ही एक ऐसी चीज हैं, जिसे लेकर वे दुनिया से विदा लेना चाहती है.