उत्तराखंड: भारी बर्फबारी के बाद पड़ रही खून जमाने वाली ठंड…

प्रदेश के चारधाम समेत राज्य के सभी ऊंचाई वाले इलाकों में शुक्रवार को बर्फबारी हुई। जबकि निचले इलाकों में पूरे दिन बारिश होती रही। बारिश और बर्फबारी के चलते अब प्रदेशभर में भीषण ठंड पड़ रही है। कई इलाकों में तापमान शून्य से नीचे पहुंच गया है। मौसम विभाग ने आज ज्यादातर इलाकों में कोल्ड डे कंडीशन के आसार जताए हैं। बृहस्पतिवार को राज्य के कई इलाकों में बारिश और बर्फबारी हुई थी, जो शुक्रवार को भी जारी रही। ऊंचाई वाले इलाकों में दिन में कई दौर की बर्फबारी हुई। निचले क्षेत्रों में शुक्रवार तड़के से ही बारिश शुरू हो गई, जो रुक-रुककर पूरे दिन जारी रही। बारिश और बर्फबारी से सभी इलाकों के तापमान में तीन से सात डिग्री तक की कमी दर्ज की गई। बर्फबारी के बाद पहाड़ी क्षेत्रों में पाला पड़ने से ठिठुरन भी बढ़ गई है।

धनोल्टी, चकराता समेत आसपास के ऊंचे पहाड़ों पर शुक्रवार को अच्छी खासी बर्फबारी हुई। औली और गौरसों बुग्याल में दो दिनों से जमकर बर्फबारी हुई। औली में पर्यटकों के आने का सिलसिला जारी है।

बर्फबारी का मजा लेने पहुंचने लगे पर्यटक
राजधानी देहरादून में आज सुबह की शुरुआत बादलों के पहरे के बीच हुई। हालांकि बाद में धूप खिल आई। जिससे हाड़ कंपा देने वाली ठंड से कुछ राहत मिली। वहीं मसूरी की बात करें तो यहां शहर में बर्फबारी नहीं हुई, जिसे लेकर पयर्टकों और स्थानीय लोगों में मायूसी नजर आई।

मसूरी के पास लाल टिब्बा में शुक्रवार देर रात को जमकर बर्फबारी हुई, जिसके बाद शनिवार सुबह ही पयर्टकों की भीड़ यहां पहुंचने लगी है। धनोल्टी में भी बर्फबारी का लुत्फ उठाने के लिए पर्यटकों का पहुंचना शुरू हो गया है। पर्यटक जमकर बर्फबारी का मजा ले रहे हैं। पर्यटकों की भारी को देखते हुए पुलिस प्रशासन द्वारा सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

रुद्रपयाग में रातभर रुक-रुक कर बारिश होती रही। वहीं केदारनाथ धम में 06 फीट से अधिक बर्फ जम गई है। द्वितीय केदार मदमहेश्वर, तृतीय केदार तुंगनाथ समेत चोपता, दुगलबिता, सारी, कालसिला समेत जनपद के 30 से अधिक गांव बर्फ के आगोश में हैं। श्रीनगर सहित राज्य के सभी इलाकों में फिलहाल बारिश थमी हुई है। हालांकि हल्के बादलों से कड़ाके की सर्दी पड़ रही है।

बर्फबारी से चमोली जिले के 155 गांव बर्फ के आगोश में
चमोली जिले में दो दिनों से चल रही बर्फबारी शनिवार को थम गई है। बर्फबारी से जिले में 21 सड़कें अवरुद्ध हैं। जबकि 155 गांव बर्फ के आगोश में समा गए हैं। 55 गांवों में विद्युत आपूर्ति भी ठप है। सुदूर गांवों में बर्फ बिछी होने से ग्रामीणों को आवाजाही के साथ ही आवश्यक वस्तुओं के लिए भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

वहीं शनिवार को हल्की धूप खिलने से लोगों को ठंड से राहत मिल गई है। बदरीनाथ धाम में लगभग आठ फीट, हेमकुंड साहिब में दस फीट और औली में छह फीट ताजी बर्फ जम गई है। जिले में हुई बारिश और बर्फबारी से कड़ाके की ठंड पड़ रही है। बदरीनाथ हाईवे पैनी मोड़ और हेलंग से आगे सड़क पर बर्फ जमने के कारण अवरुद्ध है।

जोशीमठ नगर पालिका और बीआरओ की जेसीबी मशीनों से बर्फ हटाई जा रही है। साथ ही चमोली-मंडल-ऊखीमठ, कर्णप्रयाग-गैरसैंण, जोशीमठ-मलारी, जोशीमठ-बदरीनाथ, गौचर सिदोली, कर्णप्रयाग-नौटी-पैठाणी, सुनाली-भटियाणा, सोनला-कंडारा-मैखुरा, धुरमंड़ी-नैणी, घाट-सुतोल, घाट-बांजबगड़, सिमली-चुलकोट, घाट-रामणी, बगोली-कोटी, देवाल-मुंदोली, लोहाजंग-वाण, भराड़ीसैंण-दिवालीखाल, जोशीमठ-औली, टंगसा-बमियाला, पोखरी-देवखाल और कोठियालसैंण-सावरीसैंण सड़क अवरुद्ध पड़ी हुई है।

बर्फबारी की वजह से ये मार्ग अवरुद्ध
देहरादून सुवाखोली मोटर मार्ग मोरियाना टॉप में बर्फबारी कारण अवरुद्ध है। यमुनोत्रीधाम सहित यमुना घाटी में तीसरे दिन बारिश बर्फबारी थमी, लेकिन मौसम अभी भी खराब है। यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग राड़ी टॉप तथा हनुमानचट्टी से आगे जानकीचट्टी तक बर्फबारी के कारण बाधित है।

गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग सुक्खी टॉप से आगे गंगोत्री तक, बनचौरा दिवारीखोल मार्ग पत्थरखोल में, लंबगांव मोटरमार्ग संकूर्णाधार से आगे और कुंड-उखीमठ-चोपता-गोपेश्वर मोटर मार्ग बर्फबारी के कारण बंद पड़ा हुआ है।

श्रीनगर में दो दिन बाद आज बारिश थम गई है। लेकिन आसमान में हल्के बादल हैं। इसी तरह राज्य के सभी इलाकों में फिलहाल बारिश थमी हुई है। बदरीनाथ हाईवे सिरोहबगड़ में देर रात मलबा आने से बंद हो गया था, जिसे आज सुबह करीब साढ़े आठ बजे यातायात के लिए खोल दिया गया है।

मुनस्यारी बाजार में लगभग 1 फीट बर्फ जमा

कुमाऊं में धानाचूली में भारी बर्फबारी के चलते धानाचूली-ओखलकांडा, धानाचूली-मुक्तेश्वर-भटेलिया, धानाचूली-पहाड़पानी मोटर मार्ग बंद है। मार्गों में फंसे वाहनों में यात्रियों को समस्या का सामना करना पड़ रहा है। धानाचूली के भटेलिया में पेड़ गिरने से मार्ग बंद हो गया है। यहां विद्युत आपूर्ति ठप होने से लोग परेशान हैं। कपकोट में रिखड़ी वाछम, शामा नौकुरी, लिति गोगिना, धर्मगढ़ मजखेत, बागेश्वर में गिरीछिना मार्ग बंद है।

मुनस्यारी स्थित खलिया टॉप बर्फ की आगोश में है। मुनस्यारी बाजार में लगभग 1 फीट बर्फ जमा है। जिसका लोगा आनंद ले रहे हैं। वहीं तवाघाट-नारायण आश्रम, मुनस्यारी और पिथौरागढ़-घाट रोड बंद है। घाट एनएच की शाम चार बजे तक खुलने की संभावना है।

प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में आज कोल्ड डे कंडीशन के आसार
मौसम विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार शनिवार को भी राज्य के ज्यादातर ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी और निचले क्षेत्रों में बारिश हो सकती है। ठंड बढ़ने पर अधिकांश क्षेत्रों में कोल्ड डे कंडीशन बनी रह सकती है।

न्यूनतम तापमान 10 डिग्री से कम होने और अधिकतम व न्यूनतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री से अधिक कम होने की स्थिति को कोल्ड डे कंडीशन कहा जाता है। तापमान में कमी होने के कारण इस दौरान ठंड ज्यादा पड़ने का अनुमान है।