एसिडिटी को न करें नजरअंदाज, हो सकता है कैंसर और हार्ट अटैक का खतरा

- in स्वास्थ्य

आजकल के समय में लोगों के खराब खान-पान और अनियमित जीवनशैली की वजह से एसिडिटी और हार्ट बर्न की समस्या अधिक रहती है जो व्यक्ति इस समस्या से जूझ रहे हैं उनको इसकी तकलीफ के बारे में अच्छी तरह पता होगा इसको एसिड रिफ्लक्स भी कहा जाता है एसिडिटी एक पाचन विकार होता है और यह एक ऐसा लक्षण है जो बहुत सामान्य होता है आजकल के समय में बूढ़े बच्चे और जवान सभी एसिडिटी की समस्या से परेशान है जिसका मुख्य कारण अनियमित जीवनशैली और असंतुलित आहार है, एसिडिटी की समस्या से व्यक्ति को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है इससे व्यक्ति को जलन महसूस होती है और हार्ट बर्न भी होता है परंतु इसके बावजूद भी लोग इसको आम बात समझ कर अक्सर नजरअंदाज कर देते हैं।

अगर आपको भी एसिडिटी की समस्या है और आप इसको आम बात समझ कर नजरअंदाज कर रहे हैं तो आप बहुत सी समस्याओं को निमंत्रण दे रहे हैं क्योंकि पाचन तंत्र हमारे शरीर का सबसे अहम और सक्रिय भाग होता है अगर आपको एसिडिटी की समस्या है तो आप इसका तुरंत इलाज करवाएं क्योंकि एसिडिटी की वजह से अपने आप में ही कोई बीमारी हो सकती है और किसी बीमारी का लक्षण भी हो सकता है आज हम आपको इस लेख के माध्यम से बार-बार एसिडिटी होने की वजह से किन बीमारियों की ओर संकेत हो सकता है इसके बारे में जानकारी देने वाले हैं।

हर्निया की समस्या

जब व्यक्ति के पेट की मांसपेशियों का एक हिस्सा पेट के क्षेत्र में डायाफ्राम के माध्यम से धकेलता है तो यह हाइटल हर्निया बीमारी की वजह बनता है जब यह बीमारी व्यक्ति को होती है तो इससे खाना और पाचन एसिड पेट से वापस सीने में आने लगता है जिसकी वजह से एसिडिटी की समस्या उत्पन्न होती है अगर आपको भी इस तरह की कोई परेशानी आ रही है तो आप इसका जल्द से जल्द इलाज करवाइए।

पेट के अल्सर का खतरा

पेट में बनने वाला पाचन एसिड बहुत शक्तिशाली होता है जब व्यक्ति के पेट में एसिडिटी बनती है तो इसकी वजह से पेट के अंदर पाचन एसिड बनने लगते हैं जिसकी वजह से पेट की लाइनिंग को समस्या आने लगती है जो पेट के अल्सर का रूप धारण कर लेती है यह बहुत ही गंभीर बीमारी है अगर समय रहते इस बीमारी का इलाज नहीं करवाया गया तो यह बहुत खतरनाक साबित हो सकती है।

पेट के कैंसर का खतरा

अगर किसी व्यक्ति को बार बार एसिडिटी की दिक्कत रहती है तो उसको नियमित रूप से अपनी जांच करवानी चाहिए क्योंकि कैंसर का शुरुआती चरण एसिडिटी ही होता है कैंसर कोशिकाएं पेट की लाइनिंग को दिक्कत देती है और अधिक मात्रा में पाचन फ्लूइड उत्पन्न करती है इन्हीं सब कारणों से आप भूलकर भी एसिडिटी को नजरअंदाज मत कीजिए अगर आपने ऐसी भूल की तो यह पेट के कैंसर का कारण बन सकता है इसलिए आप ऐसी समस्या होने पर तुरंत इलाज करवाएं।

हार्ट अटैक का खतरा

जब व्यक्ति को हार्ट अटैक आता है तो सबसे पहले सीने में जलन छाती में कसावट जी मचलना जैसे लक्षण नजर आते हैं बहुत से लोग ऐसे हैं जो एसिडिटी को आम बात समझकर अनदेखा कर देते हैं परंतु आपकी यह भूल आपकी जान को खतरे में डाल सकती है इसलिए आप इसका समय पर इलाज करवाएं।