कश्मीर राजमार्ग भूस्खलन के कारण बंद

- in BREAKING NEWS, TOP NEWS, राज्य

श्रीनगर : कश्मीर घाटी को देश के बाकी हिस्सों से जोडऩे वाले श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग गुरुवार को हुए ताजा भूस्खलन के कारण बंद कर दिया गया। यातायात पुलिस अधिकारियों ने यह जानकारी दी। इस दौरान राष्ट्रीय राजमार्ग पर एक ओर से यातायात जारी रहेगा। यह लद्दाख क्षेत्र को कश्मीर और ऐतिहासिक 86 किलोमीटर लंबे मुग़ल रोड से जोडऩे वाली एकमात्र सड़क है। उन्होंने कहा कि जम्मू से श्रीनगर राजमार्ग पर सुरक्षा बल के काफिले के स्वतंत्र और सुरक्षित आवाजाही सुनिश्चित करने के लिए नागरिक यातायात प्रतिबंध के कारण कल स्थगित होने के बाद गुरुवार को आम नागरिकों के यातायात के लिए खोल दिया गया। सरकार ने इस वर्ष फरवरी में राजमार्ग पर अवंतिपुरा में फिदायीन हमले में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 44 जवानों के शहीद होने के बाद सुरक्षा बल के काफिले की सुरक्षित आवाजाही के लिए सप्ताह में दो बार रविवार और बुधवार को नागरिक वाहनों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगा दिया था। सरकार ने हालांकि इस प्रतिबंध पर समीक्षा और और अगले सप्ताह से बुधवार को लगा प्रतिबंध हटाने की घोषणा की है। रविवार को आम नागरिकों के लिए लगा प्रतिबंध जारी रहेगा। डिग्डोल रामबन में भारी भूस्खलन के बाद राजमार्ग पर यातायात की आवाजाही को बंद कर दिया गया। सीमा सड़क संगठन और भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने भूस्खलन के मलबे को हटाने के लिए अत्याधुनिक मशीनों और मजदूरों को लगाया है। उन्होंने बताया कि राजमार्ग में वाहनों की आवाजाही फिर से शुरू होने में 24 घंटे का समय लगेगा। अलग-अलग स्थानों से अधिकारियों की ओर से हरी झंडी मिलने के बाद वाहनों की आवाजाही शुरू की जायेगी। राजमार्ग पर विभिन्न स्थानों पर सैकड़ों वाहन फंसे हुए हैं। इस बीच लद्दाख क्षेत्र को कश्मीर घाटी से जोडऩे वाले एक मात्र राष्ट्रीय राजमार्ग पर केवल एकतरफा यातायात जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि लद्दाख क्षेत्र के वाहनों को मध्य कश्मीर में सोनमर्ग से लद्दाख में करगिल तक वाहनों को आने की अनुमति दी गयी है। सोनमर्ग से सात बजे से 10 बजे तक हल्के वाहनों को जाने दिया जायेगा, जबकि भारी वाहनों को 10 बजे से अपराह्न एक बजे तक चलने की अनुमति दी गयी है। इस समय सीमा के बाद किसी भी वाहन के आवागमन की अनुमति नहीं दी जायेगी।