केंद्रीय मंत्री जीतेंद्र सिंह ने कहा—अब पीओके को आजाद कराने और भारत में शामिल कराने का वक्त

नई दिल्ली : केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने रविवार को कहा कि अब पीओके को आजाद कराने और भारत में शामिल कराने का वक्त आ गया है। इसमें संसद की भी पूरी रजामंदी है। ईश्वर से प्रार्थना करें कि अपने जीवकाल में यह अवसर देख पाएं। जितेंद्र सिंह ने भाजपा मुख्यालय में कहा कि हम भाग्यशाली हैं कि हमने यह सब (अनुच्छेद 370 खत्म) होते हुए देखा। हमारी तीन पीढ़ियों ने इसके लिए बलिदान दिया है, तब जाकर यह सम्भव हो सका। इस ऐतिहासिक कदम के बाद अब हमें सकारात्मक सोच के साथ काम करना होगा और गैर-कानूनी तरीके से अधिकृत पीओके को आजाद कराना है।

इससे पहले राजनाथ ने कहा था कि अगर पाकिस्तान को भारत से बातचीत करनी है तो पहले वो आतंकवाद रोके। कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय समुदाय का दरवाजा खटखटा रहा है, लेकिन अब पाकिस्तान से बातचीत सिर्फ पीओके पर ही होगी। जितेंद्र सिंह ने रक्षामंत्री के इस बयान पर सहमति जताई। रक्षा मंत्री ने कहा था कि कुछ दिन पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा था कि भारत बालाकोट से बड़ी कार्रवाई की तैयारी कर रहा है। इसका मतलब है कि इमरान जानते हैं कि भारत ने बालाकोट में क्या किया था। जम्‍मू-कश्‍मीर के विकास के लिए वहां अनुच्‍छेद 370 को निष्प्रभावी किया गया है। इस पर पाकिस्‍तान बेवजह तिलमिलाया हुआ है। पूरे विश्‍व में उसे कहीं भी समर्थन नहीं मिल रहा। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने रविवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के पीओके वाले बयान पर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि इस तरह के बयान भारत के खुद को खोजने वाले पूर्वानुमानों की तरह हैं। अनुच्छेद 370 हटाने के बाद इसी तरह की चीजें सामने आएंगी।