केरल के मराडु में अवैध रूप से बने सभी चार फ्लैट ध्वस्त

- in BREAKING NEWS, राज्य

तिरुवंतपुरम : केरल के कोच्चि में अवैध रूप से निर्मित चार इमारतों के खिलाफ कुछ महीने पहले आए उच्चतम न्यायालय के आदेश पर अमल करते हुए इनमें से आखिरी इमारत को भी रविवार को नियंत्रित विस्फोट कर गिरा दिया गया। इसके साथ ही झीलों के किनारे स्थित ऊंची इमारतों को ध्वस्त करने की मुहिम पूरी हो गई। 55 मीटर ऊंची गोल्डन कायालोरम का निर्माण तटीय नियमन क्षेत्र के प्रावधानों का उल्लंघन कर किया गया था। यह इमारत चारों अवैध अपार्टमेंट में सबसे छोटी थी जिसे दोपहर करीब ढाई बजे ध्वस्त किया गया। जैन कोरल कोव की ऊंचाई भी 55 मीटर थी, जिसे सुबह 11 बजकर तीन मिनट पर ध्वस्त किया गया। शनिवार को दो इमारतों एच2ओ होली फेथ और अल्फा सिरीन के ट्विन टावरों को ध्वस्त किया गया था। शीर्ष अदालत ने अपने फैसले में इन इमारतों को ध्वस्त करने का आदेश देते हुए कहा था कि इन चारों इमारतों का निर्माण तटीय नियमन क्षेत्र के प्रावधानों का उल्लंघन कर किया गया था। जिस बिल्डिंग को रविवार सुबह ध्वस्त किया गया है वो चारों इमारतों में सबसे छोटी थी।

17 मंजिल के इस इमारत में कुल 128 फ्लैट थे। जिसको ध्वस्त करने के लिए 372 किलो विस्फोटक का उपयोग किया गया। फ्लैट को ध्वस्त होते देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा हुए थे। बिल्डिंग के गिरने के बाद वहां पर भारी मात्रा में मलबा एकत्रित हो गया है। इससे पहले शनिवार को भी एक इमारत को ध्वस्त किया गया था। इमरात के गिराए जाने के बाद वहां पर तैनात फायरमैन ने धूल और धुएं को फैलने से रोकने के लिए वॉटर कैनन का इस्तेमाल किया।