गंभीर ने दिल्ली के सरकारी अस्पतालों को 50 लाख देने का किया ऐलान

- in खेल

नई दिल्ली: भारत के पूर्व क्रिकेटर और पूर्वी दिल्ली के मौजूदा सांसद गौतम गंभीर ने दिल्ली के सरकारी अस्पतालों के लिए अपने सांसद फंद से 50 लाख रुपये की राशि जारी की है ताकि कोरोना वायरस के इलाज के लिए जरूरी संसाधन जुटाए जा सकें. उनका मानना है कि इस खतरनाक बीमारी से लड़ने के लिए मेडिकल उपकरण बेहद जरूरी हैं. साथ ही साथ सांसद गंभीर ने लोगों को घर में रहकर कोरोना से बचाव करने की सलाह दी है.

गौतम गंभीर ने अपने ट्विटर आउंट पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और भारत के पीएम नरेंद्र मोदी को टैग करते हुए लिखा है, “बिना हथियार जंग नहीं जीती जाती! Corona के इलाज और उपकरणों में कोई कमी ना हो इसलिए चाहता हूँ कि अस्पतालों को मेरे सांसद फण्ड से 50 लाख दिए जाएँ. घर के अंदर रहें, सावधानी और सफ़ाई रखें और सरकार का साथ दें.” गंभीर ने इस पोस्ट के साथ अपने दफ्तर का लेटर भी शेयर किया है, जिसमें आधिकारिक तौर पर फंड देने की बात लिखी है.

सांसद गौतम गंभीर ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को लेटर भेजा है, जिसमें लिखा है कि, “दिल्ली शहर और उनके नागरिकों को बचाने के लिए हमें मिलकर कोशिश करनी होगी. मैं शपथ लेता हूं कि में अपने सांसद फंड से दिल्ली के सरकारी अस्पताल में मेडिकल उपकरण के लिए 50 लाख की राशि जारी करता हूं जिससे कोविड-19 से लड़ने मदद मिल सके.”

गंभीर ने इससे पहले ट्वीट करते हुए लिखा, “खुद भी जाएंगे और परिवार को भी ले जाएंगे. क्वारंटाइन (Quarantine) या जेल. पूरे समाज पर खतरा ना बने और घर पर रहें. जंग नौकरी और व्यापार से नहीं, जि़ंदगी से है। जरूरी सेवाएं देने वाले परेशान ना हों इसका भी ध्यान रखें. लॉकडाउन का पालन करें.जय हिंद.”

केंद्र सरकार ने सभी राज्य सरकारों को निर्देश जारी करते हुए कहा है कि जो लोग लॉकडाउन का पालन नहीं करेंगे उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए. भारत में कोरोना वायरस के 492 मामले सामने आ चुके हैं. ऐसे में किसी भी खतरे को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है. लोगों को घर में रहकर कोविड-19 के खतरे से बचने की सलाह दी गई है. देश के कई हिस्से में धारा 144 लगा दी गई है.