ट्रंप और मोदी के बीच शुरू हुई व्यापारिक वार्ता, होंगे 3 अरब डॉलर के रक्षा समझौते

नई दिल्‍ली: भारत यात्रा के दूसरे दिन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप का आज सुबह सबसे पहले राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत किया गया. इस मौके पर सेना के तीनों अंगों की मिली जुली टुकड़ी ने ट्रंप को ‘गार्ड ऑफ ऑनर’ दिया. इसके साथ ही उन्हें 21 तोपों की सलामी भी दी गई. इस मौके पर भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति का स्वागत किया. उसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हैदराबाद हाऊस में उनकी मुलाकात जारी है. इस दौरान दोनों पक्षों के बीच तीन अरब डॉलर के रक्षा समेत कई व्‍यापारिक समझौते होने की उम्‍मीद है.

इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि भारत और अमेरिका मंगलवार को दिल्ली में तीन अरब डॉलर के दो रक्षा सौदों पर हस्ताक्षर करेंगे. रक्षा सौदे भारतीय नौसेना के लिए 24 एमएच-60आर हेलीकॉप्टरों और सेना के लिए छह एएच-64ई अपाचे हेलीकॉप्टरों की बिक्री से संबंधित हैं.

सोमवार को गुजरात पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति ने अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में कहा, “हम अपने रक्षा सहयोग को निरंतर आगे बढ़ाते रहेंगे. अमेरिका भारत को विश्व के ग्रह के सर्वश्रेष्ठ और सर्वाधिक घातक सैन्य उपकरण प्रदान करने के लिए तत्पर है. हम सबसे अच्छे हथियार बनाते हैं और हम अब भारत के साथ सौदा कर रहे हैं.”

उन्होंने कहा, “मुझे यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि मंगलवार को हमारे प्रतिनिधि भारतीय सैन्य बलों के लिए तीन अरब डॉलर से भी अधिक के विक्रय सौदे पर हस्ताक्षर करेंगे, जिनमें अत्याधुनिक सैन्य हेलीकॉप्टर और अन्य सैन्य उपकरण शामिल हैं.” ट्रंप की भारत यात्रा से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में सुरक्षा संबंधी कैबिनेट समिति ने 19 फरवरी को 24 एमएच-60 ‘रोमियो’ नौसैनिक बहु-मिशन हेलीकाप्टरों को 2.12 अरब डॉलर और छह एचएच -64ई अपाचे हेलिकॉप्टरों के लिए अमेरिका से 79.6 करोड़ रुपये के दो सौदों को मंजूरी दी थी.