देखना चाहते हैं कुछ नया तो छुट्टियों में घूमने जाये ‘जबलपुर’

- in पर्यटन

कुछ जगह ऐसी भी होती हैं जो पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र भले न हों लेकिन इन गुमनाम जगहों में हीरे छिपे होते हैं। जिसकी आपने कल्पना भी नहीं की होगी। इन्ही जगहों में से एक है जबलपुर। भले ही छुट्टियां प्लान करते वक्त जबलपुर आपकी बकेट लिस्ट में नहीं होता लेकिन जब भी फुर्सत मिले तो नर्मदा नदी के इस शहर जरूर जाइएगा।

चौसठ योगिनी मंदिर
जो लोग वास्तुकला में खास रूचि रखते हैं उनके लिए जबलपुर में आकर्षण का केंद्र हो सकता है चौसठ योगिनी मंदिर। 10 AD में कुल्चुरी साम्राज्य के राजा द्वारा बनाया गया ये मंदिर वास्तुकला में भारत की अनमोल विरासत का एक नमूना है।

बरगी बांध
बरगी डैम जलाशय का नीला पानी एकदम समुद्र जैसा लगता है। अगर आप चाहें तो यहां से आप कान्हा किसली नेशनल पार्क भी जा सकते हैं।

बैलेंसिंग रॉक्स
जबलपुर के लोगों से पुछा जाए की उनके शहर के घूमने की क्या जगहें हैं तो कोई आपको बैलेंसिंग रॉक के बारे में जरूर बताएंगे। 1997 में जबलपुर में तीव्रगति का भूकंप आया, तब सभी चट्टानें इधर की उधर हो गई पर एक पत्थर जस का तस था। ये है जबलपुर का प्रसिद्ध बैलेंसिंग रॉक जो की सालों से एक चट्टान पर संतुलन बनाए खड़ा है।

भेड़ाघाट वाटरफॉल
नर्मदा नदी और उसके घाट जबलपुर की शान हैं। कई घाटों में से एक भेड़ाघाट सबसे खूबसूरत माना जाता है। यहां पर वॉटरफॉल मुख्य आकर्षक केंद्र है। यहां पानी इतनी तेज गति में बहता है कि हवा में धुआं उठता हुआ प्रतीत होता है। नदी के किनारे सभी तटों में संगमरमर की चट्टानें हैं जो नजारों को और भी मनोरम बना देते हैं। चांदनी रात में नदी के किनारे संगमरमर की चट्टानों का नजारा अविश्वसनीय होता है।