नेगेटिव किरदार निभाकर खुश हैं चंकी पांडे

- in मनोरंजन

मुम्बई : अभिनेता चंकी पांडे ने ज्यादातर फिल्मों में ऐक्शन और कॉमिक रोल निभाए हैं लेकिन पिछले कुछ दिनों से वह विलेन के रोल में भी दिखने लगे हैं और इसमें उन्हें काफी पसंद भी किया जा रहा है। चंकी ने अपनी पिछली दो फिल्में ‘साहो’ और ‘प्रस्थानम’ में अपने दमदार किरदार से खुद को दमदार विलेन के रूप में स्थापित किया है। अभिनेता चंकी पांडे नेगेटिव किरदार निभाकर बेहद खुश हैं। चंकी पांडे ने कहा कि जब मेरे पास फिल्म ‘बेगम जान’ का ऑफर आया तो मुझे मेकर्स पर संदेह हुआ कि ये कर क्या रहे हैं? मुझे नेगेटिव किरदार देकर खुदकुशी तो नहीं करना चाहते हैं। डायरेक्टर ने मुझसे आकर कहा कि मैं लोगों के जेहन से चंकी पांडे की इमेज भुलवा दूंगा। मुझे तो बहुत ही हंसी आ रही थी उनके इस विश्वास पर।

हालांकि उन्होंने इस रोल के लिए मेरे बाल मुंडवाए, मेरे दांतों को काला करवाया। इस तरह से मैंने बेगम जान में निगेटिव किरदार को एक्स्प्लोर किया। जब ‘साहो’ के लिए विलन का ऑफर आया, तो लगा कि यार मैं प्रभास के अगेंस्ट कैसे विलन बनूंगा? मैंने उम्मीद नहीं की थी कि इस किरदार के लिए लोगों का इतना प्यार मिलेगा। वहीं चंकी पांडे की बेटी अनन्या पांडे ने भी बॉलीवुड में अपने करियर की शुरुआत कर ली है। पांडे से जब पूछा गया कि एक अभिनेता एवं पिता होने के नाते आप अनन्या को क्या टिप्स देते हैं तब उन्होंने कहा कि मैंने अनन्या से बस यही कहा है कि बेटा किसी की नकल मत करना। यदि कोई फिल्म किसी के लिए चल गई, तो जरूरी नहीं है कि उसी फार्मूले से तुम्हारी फिल्म भी चलेगी। कभी मायूस मत होना। अपने रास्ते खुद बनाना। इस बीच, करण जौहर ने मुझसे एक बात कही थी कि तुम बहुत जल्दी अनन्या के डैडी के नाम से जाने जाओगे और यह बात पहली फिल्म के बाद ही साबित हो गई।