न्यायाधीशों व दलितों के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी मामले में द्रमुक सांसद गिरफ्तार

चेन्नई : राज्यसभा सांसद और द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) के नेता आर.एस. भारती को न्यायाधीशों और दलितों के खिलाफ अपमानजनक बयानबाजी करने के आरोप में शनिवार सुबह यहां उनके आवास से गिरफ्तार किया गया।

पार्टी कार्यालय में बीते 15 फरवरी को न्यायाधीशों और दलितों के खिलाफ उनके भाषण को अपमानजनक माना गया और अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत अथी तमिलार मक्कल काट्ची के नेता कल्याणसुंदरम द्वारा पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई थी।

पत्रकारों से बात करते हुए भारती ने कहा कि उनका भाषण सोशल मीडिया पर तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया और उन्हें किसी को संतुष्ट करने के लिए गिरफ्तार किया गया है। राज्यसभा सांसद ने कहा कि उन्होंने भ्रष्टाचार मामले में तमिलनाडु के उपमुख्यमंत्री ओ.पन्नीरसेल्वम के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। भारती का समर्थन करते हुए एमडीएमके महासचिव और सांसद वाइको ने सरकार से इस मामले को वापस लेने की मांग की। वाइको ने कहा कि भारती ने अपने विवादित भाषण पर खेद जताया था।