पुणे टेस्ट जीतने के बाद विराट ने बताया टीम का अगला लक्ष्य

- in खेल

पुणे टेस्ट में भारत ने अफ्रीका को एक पारी और 137 रनों से हराकर सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त बना ली है। इसी के साथ भारतीय टीम ने पहले ही टेस्ट सीरीज अपने नाम कर ली है। अब दोनों टीमों के बीच तीसरा और फाइनल टेस्ट मुकाबला शनिवार से रांची में खेला जाएगा। बता दें कि होम ग्राउंड पर टीम इंडिया की यह 11वीं जीत थी।

टेस्ट मैच के चौथे दिन टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने मेहमान टीम को फॉलोऑन दिया, लेकिन दक्षिण अफ्रीकी टीम 326 रन की लीड को पार नहीं कर सकी और चौथे दिन के आखिरी सत्र में 189 रन पर पूरी टीम ढेर हो गई। इस जीत के साथ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में भारत 200 प्वाइंट्स के साथ शीर्ष पर बना हुआ है।

मैच के बाद विराट कोहली ने अपने खिलाड़ियों की जमकर तारीफ की और कहा, ‘मैंने पिछले दिनों की कहा था कि अगर आपको कप्तान की जिम्मेदारी मिलती है और अगर पहले ही सोच कर मैदान पर बल्लेबाजी करने जाते हैं कि आपको दोहरा शतक मारना है तो आप ऐसा नहीं कर सकते। लेकिन अगर आप चार-पांच सेशन बल्लेबाजी करने को लेकर सोचते हैं तो फिर आप ऐसा कर सकते हैं। इसमें आपको प्रेशर महसूस नहीं होगा। कई बार आप लोगों को गलत साबित करने के लिए खेलते हैं लेकिन जिस तरह मैं अभी खेल रहा हूं इससे मैं काफी खुश हूं।’

उन्होंने आगे कहा कि, ‘जब हमने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की शुरूआत की थी तो हम सातवें नंबर पर थे लेकिन हमनें काफी मेहनत की और नतीजा आज आपके सामने है। पिछले चार-पांच सालों में मुझे जो खिलाड़ी मिले हैं उन्हें पाकर मैं काफी खुश हूं। हर गेम का मूल्य होता है, इसलिए हम तीसरे टेस्ट में भी अपना पैर पीछे नहीं हटाएंगे। किसी भी स्तर पर कोई आराम करने नहीं जा रहा है। इसकी गारंटी है। हम तीसरे टेस्ट में भी जीत के लिए उतरेंगे और उम्मीद है कि 3-0 से सीरीज जीतेंगे।’

वहीं, उप कप्तान अंजिक्य रहाणे के साथ चौथे विकेट के लिए 178 रन की साझेदारी के बारे में कोहली ने कहा, ‘मैं जिंक्स (रहाणे) के साथ बल्लेबाजी का वास्तव में लुत्फ उठाता हूं। हम जब साझेदारी निभाते हैं तो हम मैच को आगे ले जाते हैं। आपको सुबह नई गेंद का सामना करने के लिये तैयार रहना चाहिए। जब परिस्थितियां मुश्किल थी तब हमने अच्छा खेल दिखाया। जब भी मैंने गलत किया उसने मुझे बताया और इसी तरह से मैं उसे बताता रहा।’