प्रेमी को जहर पिलाकर मारने के आरोप में प्रेमिका गिरफ्तार

अंबिकापुर (छत्तीसगढ़) : जाति बंधन आड़े आया तो प्रेमी-प्रेमिका ने खुदकुशी करने की योजना बनाई। प्रेमिका ने अपने प्रेमी के लिए जहर भेजकर खुद भी जहर पी लिया। प्रेमी की मौत हो गई और प्रेमिका उपचार से बच गई। डेढ़ साल पहले हुई इस घटना पर पुलिस ने प्रेमी की हत्या के आरोप में प्रेमिका को गिरफ्तार कर लिया है। मामला दरिमा थाना क्षेत्र के ग्राम तिहपटरा की है। यहां के निवासी बिनकोस बरवा (20) पिता निरंजन बरवा की कीटनाशक पीने से मेडिकल कॉलेज अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई थी। घटना 25 जुलाई 2019 की है। जांच में सामने आया कि मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा था। प्रेमिका ने ही कीटनाशक का घोल और शराब अपने प्रेमी के लिए एक बच्चे के हाथ से भेजी थी। बाद में खुद जहर पी लिया था।

जहर पीने से प्रेमी की मौत हो गई और वह खुद बच गई थी। युवक की मौत के बाद जांच में इसका खुलासा हुआ कि बिनकोस बरवा एक आठ वर्षीय बच्चे को एक पैकेट पास्ता देकर दुआ उर्फ मनिता के यहां से शराब लेकर आने के लिए कहा था। बच्चा युवती के घर गया और एक पानी के बॉटल में महुआ शराब और एक स्टील गिलास में आधा गिलास भरा हुआ लाल रंग के दवा का घोल, जिससे असहनीय गंध आ रहा थी, उसे लाकर बिनकोस बरवा को दे दिया।

इसके बाद बिनकोस प्लास्टिक बॉटल की शराब सहित मोटरसाइकिल में पीछे रखकर और स्टील गिलास की दवा सहित एक हाथ में पकड़ मोटरसाइकिल को एक हाथ से चलाते हुए अपने घर गया। उसी शराब और जहर का सेवन करने से बिनकोश का मौत हो गई। पुलिस ने जांच में पाया कि उसका व मनिता ऊर्फ दुआ नगेसिया का प्रेम संबंध था। दोनों शादी करना चाहते थे। अलग-अलग जाति के होने के कारण पारिवारिक सहमति नहीं मिली। इससे मनिता, बिनकोस बरवा को कीटनाशक दवा देकर स्वयं जहर सेवन कर लिया था। उसने अपना इलाज करवा लिया। आरोपित का इलाज करने वाले डॉक्टर से इलाज संबंधी दस्तावेज प्राप्त करने पर डॉक्टर द्वारा जहरीले पदार्थ का सेवन करना बताया गया।