फिलीपींस में एक लाख 88 हजार लोगों को डेंगू, 807 की मौत

मनीला : फिलीपींस में इस वर्ष पहले आठ महीने में 188000 से अधिक लोग जानलेवा बीमारी डेंगू से ग्रसित है तथा इससे अब तक यहां 807 लोगों की मौत हुई है। फिलीपींस के स्वास्थ्य विभाग ने मंगलवार को यह जानकारी दी। स्वास्थ्य विभाग (डीओएच) की डेंगू निगरानी रिपोर्ट के मुताबिक इस साल एक जनवरी से तीन अगस्त के बीच डेंगू के कुल 188562 मामले सामने आये जो पिछले वर्ष की तुलना में दो गुनी अधिक है। पिछले वर्ष इस अवधि में डेंगू के 93149 मामले सामने आये थे। इस जानलेवा बीमारी की चपेट में आकर मरने वालों की संख्या में भी काफी वृद्धि हुई है। वर्ष 2018 में डेंगू से 497 लोगों की मौत हुई थी जबकि इस वर्ष तीन अगस्त तक डेंगू से 807 लोगों की मौत हो चुकी है। डीओएच के मुताबिक इस महामारी से देश के मध्य और दक्षिणी इलाके प्रभावित हुए हैं तथा सबसे अधिक पांच से नौ साल के बच्चे इसकी चपेट में आये हैं।

देश में डेंगू से पीडि़त बच्चों की संख्या 43047 है, जो कुल बीमार लोगों का 23 प्रतिशत है। स्वास्थ्य विभाग के उप सचिव एरिक डोमिंगो ने कहा, डेंगू के मामलों में वृद्धि हो रही है। उन्होंने लोगों से डेंगू को रोकने के लिए मच्छर प्रजनन स्थलों को साफ करने और उन्हें नष्ट करने के प्रयासों को बढ़ाने की अपील की है। फिलीपींस ने छह अगस्त को देश में डेंगू को राष्ट्रीय महामारी घोषित किया ताकि इससे निपटने के लिए स्थानीय सरकार विशेष त्वरित प्रतिक्रिया निधि गठित कर सकें। डीओएच ने चेतावनी दी है कि बरसात के मौसम के कारण अक्टूबर तक डेंगू के मामले बढऩे की आशंका है। डेंगू दुनियाभर में उष्णकटिबंधीय देशों में पाया जाने वाला एक मच्छर जनित वायरल संक्रमण है। इससे जोड़ों में दर्द, मतली, उल्टी और दाने का कारण बन सकता है और गंभीर मामलों में साँस लेने में परेशानी, रक्तस्राव और अंग की विफलता का कारण बन सकता है। हाल के दशकों में डेंगू की वैश्विक मामलों में वृद्धि हुई है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा कि पिछले 50 वर्षों में डेंगू के मामलों में 30 गुना वृद्धि हुई है।