यात्रा कीजिए भारत के स्कॉटलैंड की…

- in पर्यटन

आप में से उन लोगों के लिए जो पूर्वोत्तर में जाकर रुचि रखते हैं, शिलांग एक खूबसूरत गंतव्य है। मेघालय में स्थित, शिलांग में घूमने वाले झरने, चारों ओर की पहाड़ियों के सुंदर दृश्य और एक शांतिपूर्ण माहौल है। सूर्योदय और सूर्यास्त और स्वादिष्ट व्यंजनों का आनंद उठा सकते हैं। शाम को स्थानीय संगीत सुनने में खर्च किया जा सकता है; जब लोग अपने गिटार लाते हैं वार्डस झील से शिलांग के सौंदर्य

1. स्वीट फॉल

शिलांग का सबसे खड़े और खूबसूरत झरनों में से एक है। इस झरने को स्थानीय भाषा में वेतदेन कहते हैं। यह सीधी ढाल वाला झरना 96 मीटर की ऊंचाई से काले चट्टानों पर गिरता है। बरसात के समय में इसके पानी की गति और भी बढ़ जाती है और यह पूरे बल के साथ गिरता है। इस झरने का नजारा शानदार है।

2. लेडी हैदरी पार्क शिलांग का एक ऐसा पर्यटन स्थल है, जिसे आप नजरअंदान कर ही नहीं सकते। यह एक हरा-भरा गार्डन है, जो पूरे साल रंग-बिरंगे फूलों से सजा रहता है। साथ ही इससे सटा हिरण पार्क वाला मिनी जू लेडी हैदरी पार्क को और भी खास बना देता है। पर्यटक और स्थानीय लोग यहां घंटों समय बिताते हैं।

3.

 शिलांग पीक शिलांग की सबसे ऊंची चोटी है। यहां से आप पूरे शहर का विहंगम नजारा देख सकते हैं। यह शहर का एक ऐसा पर्यटन स्थल है, जहां सबसे ज्यादा पर्यटक आते हैं। वास्तव में पर्यटकों की दिलचस्पी इस चोटी से दिखने वाले शहर के नजारों में ही होती है।इतिहासकारों का ऐसा मानना है कि इसी पर्वत के कारण इस शहर का नाम शिलांग पड़ा। 

4.

वार्डस झील से शिलांग के सौंदर्य में चार चांद लग जाते हैं।वार्डस झील शिलांग शहर के बीचोंबीच स्थित है और यह शहर की दिल की धड़कन है।वार्डस झील पर नौका विहार कर सकते हैं।इस झील का पानी इतना साफ़ है कि अंदर तैरती हुई मछलियाँ नज़र आती हैं।इसके साथ जुड़ा बोटैनिकल गार्डन भी अवश्य देखें। यहाँ पर रंगबिरंगी चिडियाँ मन को मोह लेती हैं।

5. 

मेरंग-नोखलॉ रोड पर ग्रेनाइट की एक ऊंची और विशाल चट्टान है जिसे कैलांग रॉक के नाम से जाना जाता है। यह एक गोलाकार गुम्बदनुमा चट्टान है जिसका व्यास लगभग 1000 फुट है।