यूपी: शामली में कच्ची शराब पीने से 5 लोगों की मौत, पुलिस में मची खलबली

घटना शामली के झिंझाना थाना क्षेत्र की है। जहां कच्ची शराब पीने से तीन दिन के अंदर पांच लोगों की मौत होने से पुलिस महकमे में खलबली मच गई। मंगलवार तक तीन लोगों की मौत हो चुकी थी, जबकि बुधवार सुबह को दो अन्य व्यक्तियों की भी मौत हो गई। डीएम और एसपी ने गांव में पहुंचकर घटना की जानकारी ली। वहीं मृतकों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। 

गांव कमालपुर में बुधवार को अवैध रूप से बिकने वाली शराब पीने से मरने वालों की संख्या पांच हो गई। मंगलवार सुबह गांव के एक व्यक्ति ने पुलिस कंट्रोल रूम को कॉल करके सूचना दी कि गांव में दो दिन के भीतर तीन लोगों की मौत कच्ची शराब पीने के कारण हुई है।

इस सूचना पर पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार, सहायक पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार, सीओ कैराना राजेश तिवारी और झिंझाना थानाध्यक्ष राजकुमार शर्मा पुलिस बल के साथ गांव में पहुंचे। पुलिस अधिकारियों ने मृतकों के परिजनों से घटना के संबंध में जानकारी ली। मृतकों की पहचान धर्मपाल (65) व राजकुमार (55) के रूप में हुई है। दोनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। 

क्षेत्र में अवैध रूप बिकती है कच्ची शराब  

कमालपुर गांव में दो दिन के भीतर पांच लोगों की मौत कई सवाल खड़े कर रही है। दरअसल, झिंझाना क्षेत्र में अवैध रूप से शराब बनाने और बेचने का धंधा काफी समय से चलता रहा है। उधर, भाकियू के युवा जिलाध्यक्ष विनोद निर्वाल भी मंगलवार दोपहर गांव कमालपुर में पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि अवैध रूप से नशीले पदार्थों की बिक्री पर रोक लगनी चाहिए। लोगों की मौत के मामले की गंभीरता से जांच होनी चाहिए, ताकि सच्चाई सामने आ सके।  

डीएम इंद्र विक्रम सिंह व एसपी दिनेश कुमार ने गांव में लोगों से मामले की जानकारी ली। पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार का कहना है कि कमालपुर गांव में जाकर घटना की जानकारी ली गई। मृतकों के परिजनों ने मंगलवार को कानूनी कार्रवाई कराने से इंकार कर दिया और हार्ट अटैक के कारण मौत होनी बताई है। बुधवार को हुई मौतों के मामले में शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। मामले की छानबीन की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग की टीम भी फिलहाल गांव में मौजूद है।