शेयर बाजार में आईआरसीटीसी की बंपर लिस्टिंग, निवेशक हुए मालामाल

- in BREAKING NEWS, व्यापार

नई दिल्ली : आईआरसीटीसी के आईपीओ में पैसा लगाने वालों की आज लॉटरी लग गई है। आईआरसीटीसी के शेयरों की सोमवार को बीएसई पर 644 रुपये पर लिस्टिंग हुई और सुबह 10.20 बजे इसकी कीमत 691 रुपये पर पहुंच गई। इसके आईपीओ को जिस तरह का जबर्दस्त रेस्पांस मिला था उसे देखते हुए इस बात की पहले से ही उम्मीद थी। इससे लाखों निवेशक मालामाल हो गए हैं।

कंपनी का शेयर अब बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और नेश्नल स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध हो चुका है। यह शेयर 320 रुपये के इशू प्राइस के मुकाबले बीएसई पर 101.25 फीसदी प्रीमियम के साथ बीएसई पर 644 रुपये पर सूचीबद्ध हुआ और निफ्टी में 651 रुपये पर सूचीबद्ध हुआ। बता दें कि स्टॉक मार्केट में किसी सरकारी कंपनी की यह सबसे सफल लिस्टिंग है। बाजार में सूचीबद्ध होने के बाद कंपनी का बाजार पूंजीकरण (एम कैप) 10,736 करोड़ रुपये हो गया है। सुबह 10.30 बजे कंपनी का शेयर 40 अंक यानी 6.21 फीसदी के उछाल के साथ 683.25 रुपये पर कारोबार कर रहा था। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर कंपनी का शेयर 691.25 रुपये पर कारोबार कर रहा था।
एक लॉट 40 इच्टिी शेयरों का था। न्यूनतम बोली 40 इच्टिी शेयरों के लिए थी। रिटेल निवेशक अधिकतम 16 लॉट खरीद सकते थे। कंपनी ने 315 से 320 रुपये का प्राइस बैंड तय किया था और खुदरा श्रेणी के निवेशकों और पात्र कर्मचारियों के लिए आधार मूल्य पर प्रति शेयर 10 रुपये की छूट की पेशकश थी। यानी छूट के बाद आईआरसीटीसी आईपीओ का दाम 305 से 310 रुपये था। लोगों को 40 शेयर का एक लॉट खरीदने के लिए 12,200 रुपये खर्च करने पड़े। बता दें कि ग्रे मार्केट में शेयर की कीमत में 71 फीसदी की बढ़ोतरी पहले ही हो चुकी थी। आईपीओ के जरिए कंपनी ने 645 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा था। स्टॉक एक्सचेंज से मिले आंकड़ों के मुताबिक, 645 करोड़ रुपये जुटाने के लिए लाए गए इस आईपीओ के तहत दो करोड़ शेयरों के लिए बोलियां मांगी गईं थीं। इस निर्गम में पात्र कर्मचारियों के लिए 1,60,000 शेयर आरक्षित किए गए हैं। चलिफाइड इन्स्टिट्यूश्नल बायर्स ( क्तढ्ढक्च ) की श्रेणी में 109 गुना, गैर-संस्थागत निवेशकों के मामले में 355 गुना और खुदरा निवेशकों के मामले में 15 गुना अभिदान मिला है।