सरकारी बैंकों ने एक साल में बंद किए 55 सौ एटीएम और 600 ब्रांच

नई दिल्ली : पब्लिक सेक्टर बैंक बड़े शहरों में अपनी एटीएम और ब्रांच को बंद कर रही हैं. इसकी वजह यह बताई जा रही है कि शहर में रहने वाले लोग इंटरनेट बैंकिंग पर बहुत ज्यादा शिफ्ट हो गए हैं, जिसकी वजह से सरकारी बैंकों का ऐसा मानना है कि ब्रांच और एटीएम जैसे फिजिकल इंफ्रास्ट्रक्चर को कम किया जा सकता है.

पिछले एक साल में देश के 10 सरकारी बैंक (जिनके पास सबसे अधिक ब्रांच भी हैं) ने कुल मिलाकर 5,500 एटीएम और 600 ब्रांच बंद किए हैं. बैंकों के तिमाही नतीजों का विश्लेषण करके यह जानकारी हासिल की है. सरकारी बैंक बैलेंस शीट में एक्सपेंडिचर को कम करने के लिए एनपीए को कम करने की योजना बना रहे हैं.