साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने मांगी माफी, राहुल गांधी के आतंकवादी वाले बयान पर कहा-एक साध्वी का अपमान

नई दिल्ली : सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने आज लोकसभा में गोडसे वाले बयान को लेकर माफी मांग ली है। इसके बाद उन्होंने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा। इससे कांग्रेसी सांसद नाराज हो गए हैं। गौरतलब है कि दो दिन पहले साध्वी ने लोकसभा में नाथूराम गोड्से को ‘देशभक्त’ बता दिया था। इसके बाद विपक्षी दल उनके खिलाफ कार्रवाई करने पर अड़ी हुई है। इस मामले में कांग्रेसी सांसद कल लोकसभा से वॉकआउट कर गई थी। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कांग्रेस के हंगामे को लेकर नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा कि प्रज्ञा ठाकुर ने माफी मांग ली। इसके बाद भी हंगामा ठीक नहीं है। सांसद निशिकांत दुबे ने राहुल गांधी द्वारा आतंकवादी कहने का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को इस सदन में आकर माफी मांगनी चाहिए। एक महिला को आतंकवादी कहना। इस सदन के सदस्य को आतंकवादी कहना यह महात्मा गांधी की हत्या से भी बदतर है। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने लोकसभा में शुक्रवार को गोडसे वाले बयान पर कहा है कि महोदय इस घटनाक्रम में सबसे पहले मेरे बयान से यदि किसी प्रकार से कोई चोट पहुंची हो तो मैं क्षमा चाहती हूं। परन्तु मैं यह भी कहना चाहती हूं कि संसद में मेरे बयानों को तोड़मरोड़कर प्रस्तुत किया गया। यह निंदनीय है।

महात्मा गांधी द्वारा देश के लिए काम का मैं सम्मान करती हूं। इसी सदन के एक सदस्य द्वारा मुझे सार्वजनिक तौर पर आतंकवादी कहा गया। मेरे खिलाफ अदालत में कोई आरोप सिद्ध नहीं हुआ है, बिना आरोप साबित हुए मुझे अपमानित किया गया है। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर काे राहुल गांधी ने आतंकवादी बताया था। इसके बाद कांग्रेस के सांसदों ने लोकसभा में महात्मा गांधी के नारे लगाना शुरू कर दिया है। क्योंकि प्रज्ञा ठाकुर ने गोडसे वाले बयान पर माफी तो मांगी लेकिन उनका राहुल गांधी पर निशाना साधना पसंद नहीं आया। कांग्रेसी सांसद लोकसभा में हंगामा मचाया। इससे पहले भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने आज सुबह भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, बीजेपी महासचिव भूपेंद्र यादव और संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी से मिली। प्रज्ञा ठाकुर की संसद परिसर में बीजेपी आलाकमान के नेताओं के साथ बैठक हुई।