सीएए पर भ्रम दूर करने उत्तर प्रदेश में उतरेंगे भाजपा के बड़े दिग्गज

नई दिल्ली : नागरिकता कानून के खिलाफ हुए प्रदर्शन में कई जगह हिंसा के भी खबरें रही है। प्रदर्शन का सबसे ज्यादा असर पश्चिम बंगाल, दिल्ली और उत्तर प्रदेश में देखा गया। अब प्रदर्शन के मद्देनजर भाजपा ने भी आम लोगों को इस कानून के बारे में समझाना शुरू कर दिया है। जब से केंद्र की मोदी सरकार नागरिकता कानून लेकर आई है देश में कई जगहों पर इसके खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं। इतना ही नहीं, विपक्ष की लगभग सभी पार्टियों ने इस कानून का विरोध किया है। नागरिकता कानून के खिलाफ हुए प्रदर्शन में कई जगह हिंसा के भी खबरें रही है। प्रदर्शन का सबसे ज्यादा असर पश्चिम बंगाल, दिल्ली और उत्तर प्रदेश में देखा गया। अब प्रदर्शन के मद्देनजर भाजपा ने भी आम लोगों को इस कानून के बारे में समझाना शुरू कर दिया है।

जागरूकता अभियान के तहत भाजपा ने देश के कई हिस्सों में रैलियों का आयोजन करवाया। इन रैलियों में पार्टी के बड़े नेताओं ने लोगों को समझाने की कोशिश की। अब बारी उत्तर प्रदेश की है। भाजपा यहां छ: बड़ी रैलियां करने की तैयारी में है। गृह मंत्री और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह 21 को लखनऊ में रैली करेंगे। वहीं, रक्षा मंत्री और पार्टी के कद्दावर नेता राजनाथ सिंह 22 जनवरी को मेरठ में रैली करेंगे। सूत्रों के मुताबिक 23 को पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा आगरा में रैला करेंगे।