स्मृति ईरानी के साथ कांग्रेस सांसदों की बदसलूकी पर भड़के शाह, करी माफी की मांग

संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान सोमवार को गृहमंत्री अमित शाह ने स्मृति ईरानी से छह दिसंबर को लोकसभा में हुए दुर्व्यवहार पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने इसके लिए लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी से माफी की मांग की। वहीं, संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी आज कांग्रेस सांसदों टीएन प्रतापन और डीन कुरियाकस के खिलाफ सदन में प्रस्ताव पेश करेंगे। इससे पहले उन्होंने इन सांसदों के खिलाफ नियम 374 के तहत कार्रवाई करने के लिए स्पीकर ओम बिरला को नोटिस दिया था।

यह था मामला
शुक्रवार को यूपी में कानून व्यवस्था पर लोकसभा में स्मृति ईरानी के बयान के दौरान कांग्रेस के टी एन प्रतापन एवं कुछ सदस्य विरोध करते हुए अपनी सीट से उठकर आसन की ओर बढ़ने लगे। प्रतापन को केंद्रीय मंत्री ईरानी की ओर संकेत करके कुछ कहते देखा गया। इस पर ईरानी ने कहा कि उन्हें इस सदन का सदस्य होने के नाते अपनी बात रखने का अधिकार है। वह कांग्रेस सदस्यों से यह भी कहते सुनी गयीं कि वे उन पर चिल्ला नहीं सकते। इस बीच स्मृति ईरानी भी अपनी सीट से बाहर निकलकर आई।

एनसीपी की सुप्रिया सुले एवं कुछ अन्य सदस्यों को उत्तेजित कांग्रेस के सदस्यों को बैठाने का प्रयास किया। वहीं, केंद्रीय मंत्रियों प्रहलाद जोशी एवं प्रहलाद पटेल ने स्मृति ईरानी को बैठने का आग्रह किया।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि गंभीर टिप्पणी का जवाब गंभीर टिप्पणी से दिया जा सकता है, लेकिन सदस्य आसन की ओर नहीं बढ़ सकते और सहयोग से ही कार्यवाही चलनी चाहिए तथा सदन की गरिमा बनाये रखनी चाहिए।