हैदराबाद पीड़िता के पिता का दर्द, बोले- कानून बने, लेकिन कभी लागू नहीं हुए

हैदराबाद में पशु चिकित्सक की दुष्कर्म के बाद बर्बर तरीके से हत्या करने के मामले ने पूरे देश को हिला दिया है। देशभर में दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग हो रही है। मगर हमारे देश में दोषियों को मिलने वाली सजा में होने वाली देरी से पशु चिकित्सक के पिता भी दुखी हैं। उन्होंने दोषियों को जल्द से जल्द कड़ी सजा दिलाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि कानून बने हैं, लेकिन उन्हें लागू नहीं किया जा रहा। निर्भया मामले को देखिए। इस मामले के दोषियों को अब तक फांसी दे दी जानी चाहिए थी।

वहीं दूसरी तरफ शादनगर कोर्ट मामले में चार आरोपियों की 10 दिन की पुलिस हिरासत के लिए पुलिस द्वारा दायर की गई याचिका पर कल सुनवाई करेगा।

टीवी चैनलों-सोशल साइटों को नोटिस
हैदाराबाद मामले में पुलिस ने मंगलवार को समाचार चैनलों और सोशल मीडिया साइटों को नोटिस जारी किया। पुलिस ने पीड़िता की पहचान उजागर करने और अभियुक्तों की छवियों को हवा देने के लिए कुछ चैनल और साइटों को नोटिस जारी कर इसपर रोक लगाने के लिए कहा है।

इस मामले की जांच कर रही साइबराबाद पुलिस ने कहा कि कुछ प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया और सोशल मीडिया पर जांच से संबंधित दस्तावेजों का भी प्रसारण और प्रकाशन किया गया। कुछ समाचार चैनलों ने ये दस्तावेज दिखाए। जिससे जांच में बाधा उत्पन्न हुई।

इसलिए पुलिस ने आपराधिक प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 149 के तहत नोटिस जारी किया है कि वे ऐसी सामग्री का प्रसारण बंद करने को कहें।