450 करोड़ में वेव को खरीद सकता है पीवीआर

- in फीचर्ड, व्यापार


मुम्बई : मल्टीप्लेक्स कंपनी SPI सिनेमाज को खरीदने के बाद देश की सबसे बड़ी सिनेमा एग्जिबिशन कंपनी PVR अब उत्तर भारत की वेव सिनेमाज को खरीदने की तैयारी कर रही है। वेव में आइनॉक्स लीजर, सिनेपोलिस इंडिया और कार्निवल सिनेमाज ने भी दिलचस्पी दिखाई है। हालांकि, वेव के प्रमोटर्स का झुकाव PVR की ओर अधिक है। ‘वेव सिनेमाज बिकने जा रही है और इसके लिए दौड़ में PVR आगे है। PVR प्रीमियम ब्रैंड है और मल्टीप्लेक्स बिजनेस में इसकी सबसे बड़ी हिस्सेदारी है। इसलिए वेव के मालिक उसके साथ डील करना चाहते हैं। सौदे में वेव सिनेमाज की वैल्यू लगभग 450 करोड़ रुपये लगाई जा सकती है। उनका कहना था, वेव के पास उत्तर भारत में 12 प्रॉपर्टीज और 46 स्क्रीन हैं और उन्होंने 30 और प्रॉपर्टीज के लिए साइन किया है, जो अभी डिवेलप की जा रही हैं। PVR इस डील पर 400-450 करोड़ रुपये खर्च कर सकती है।

SPI के एक्विजिशन के बाद PVR के पास 60 शहरों में 152 प्रॉपर्टीज में 706 स्क्रीन होंगी। कंपनी ने 2020 तक स्क्रीन की संख्या बढ़ाकर 1,000 करने का लक्ष्य रखा है। इस वर्ष के अंत तक इसकी स्क्रीन की संख्या 800 पर पहुंच सकती है। इस बारे में PVR को भेजे गए प्रश्नों का उत्तर नहीं मिला, जबकि वेव के प्रवक्ता ने टिप्पणी करने से मना कर दिया। वेव के पास नोएडा, लखनऊ, रूद्रपुर, हरिद्वार, लुधियाना, मुरादाबाद, चंडीगढ़, मेरठ और जम्मू में मल्टीप्लेक्स हैं। हालांकि, कंपनी के पास एनसीआर में कुछ स्क्रीन होने के कारण इस डील की घोषणा इस वर्ष के अंत या अगले वर्ष की शुरुआत तक टाली जा सकती है। एक सूत्र ने बताया, PVR को कॉम्पिटीशन कमीशन ऑफ इंडिया (CCI) से अपनी DT सिनेमाज डील का अप्रूवल लेने के लिए 2016 में एनसीआर में तीन वर्ष तक एक्सपैंशन रोकने पर हामी भरनी पड़ी थी। यह अवधि अगले वर्ष अप्रैल में खत्म होगी।देश की मल्टीप्लेक्स इंडस्ट्री कंसॉलिडेशन के दौर से गुजर रही है। पिछले 15 वर्षों में PVR इस इंडस्ट्री की सबसे बड़ी कंपनी के तौर पर उभरी है। इसके बाद आइनॉक्स लीजर, कार्निवल सिनेमाज और सिनेपोलिस इंडिया हैं। PVR ने हाल ही में एक कैश और स्टॉक डील में SPI सिनेमाज को खरीदने की घोषणा की थी। इस डील में SPI सिनेमाज की वैल्यू 850 करोड़ रुपये लगाई गई थी। इससे पहले PVR ने डीएलएफ से DT सिनेमाज को 433 करोड़ रुपये और रहेजा ग्रुप से सिनेमैक्स को 570 करोड़ रुपये में खरीदा था।