84 साल बाद दिखा अनोखी प्रजाति का लाल सांप

नैनीताल : उत्तराखंड में नैनीताल के एक घर में एक सांप छिपा हुआ था जिसे वन विभाग की टीम ने निकाला। इस मामले में वन अधिकारियों का कहना है कि इस दुर्लभ सांप को पहली बार 1936 में उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी क्षेत्र में देखा गया था। जिसके बाद इसका वैज्ञानिक नाम ओलिगोडोन खेरिएन्सिस दिया गया। इस सांप को कुकरी इसलिए भी कहा जाता है क्योंकि यह गोरखाओं के कुखरी (चाकू) की तरह होता है।

इस सांप के दांत कुखरी के ब्लेड की तरह घुमावदार होते हैं। इस सांप को लेकर प्रभागीय वनाधिकारी नीतीश मणि त्रिपाठी ने कहा, “गौला वन रेंज टीम को नैनीताल जिले के कुररिया खट्टा गांव के निवासी कविंद्र कोरंगा ने शुक्रवार सुबह एक सांप से बचाव के लिए मदद मांगी थी। जब हम वहां गए, तो ग्रामीणों ने सांप को पकड़ लिया और उसे प्लास्टिक की बोरी में बंद कर दिया। जिसके बाद कुखरी सांप को टीम ने जंगल में छोड़ दिया। “