अंग्रेज जमाने की याद दिलाता बीड़ीबाज दारोगा, धुएं के छल्लों में उड़ रहा क़ानून का मजाक

मैनपुरी, 4 अगस्त, दस्तक टाइम्स (आशीष सक्सेना) : मैनपुरी में एक थाने का दरोगा चर्चाओं का विषय बना हुया है। वर्तानिया हुकूमत की याद दिलाता यह दरोगा कानून को ताक पर रखकर आम जनता को कानून का पाठ खूब पढ़ा रहा है। भले ही देश को आजाद हुए 70 साल हो गए हो लेकिन मैनपुरी में एक थाना ऐसा भी है जहाँ आज भी फ़रियाद लेकर आये पीड़ितों के साथ दरोगा जी हिटलर शाही दिखाते नजर आते है फिर पीड़ित चाहे बुजुर्ग या महिला ही क्यों न हो।

दरअसल यह पूरा मामला मैनपुरी के थानां किशनी का है जहाँ तैनात दरोगा निरंजन मलिक वर्दी के नशे में इस कदर चूर हैं कि सरेआम थाने में ड्यूटी के दौरान ही बीड़ी को सिगरेट की स्टाइल में पीकर अपनी दबंगई का अहसास लोगों को कराने से नहीं चूकते। इतना ही नहीं इनके सामने क्या महिला, क्या बड़ा बुजुर्ग, किसी के लिए कोई सम्मान नहीं ही।

भले ही सूबे के मुखिया और यूपी पुलिस के मुखिया, पुलिसकर्मियों को थानों पर आने वाले फरियादियों से कैसे बात करनी है इसका पाठ पढ़ाते न थकते हों, परंतु इन दरोगा जी के दरबार में फरियादियों की जगह जमीन पर ही है। उन्हें इतना भी ज्ञान नहीं कि एक महिला पीड़ित के साथ भी कैसा व्यवहार करें। ऐठन के साथ सरेआम बीड़ी के धुएं के छल्ले उड़ाने वाले इन दरोगा के इस रवैये की चर्चा आज कल खूब हो रही है। अब देखने बाली बात होगी ऐसे अनुशासनहीन दरोगा के खिलाफ यूपी पुलिस के आला अफसर क्या कार्रवाई करते हैं ?