रामनगरी में उल्लास और उत्साह का माहौल

तैयारियों का जायजा लेने योगी जा रहे अयोध्या

मुख्यमंत्री अयोध्या में शिलान्यास कार्यक्रम की तैयारियों को देखेंगे

लखनऊ, 01 अगस्त, दस्तक (ब्यूरो) :  प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यास कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लेने के लिए अयोध्या जाएंगे। रामनगरी में इस कार्यक्रम को लेकर कोरोना संक्रमण काल के बावजूद चारों ओर उल्लास का वातारण है और आयोजन की तैयारियां तेजी से चल रही हैं। अयोध्या के पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों को कोविड-19 के दिशा निर्देशों का भी सख्ती से पालन करवाने का आदेश दिया गया है।

मुख्यमंत्री योगी इससे पहले भी 25 जुलाई को रामनगरी का दौरा कर तैयारियों को लेकर दिशा निर्देश दे चुके हैं। उन्होंने श्री रामजन्मभूमि मंदिर के गर्भगृह में भूमि पूजन के लिए पांच अगस्त को अयोध्या आ रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम की तैयारी की कमान खुद संभाली हुई है। उन्होंने कहा है कि विश्व जिस रूप में अयोध्या को देखना चाहता है, हम सभी को मिलकर अयोध्या का उससे भी भव्य रूप बनाना है।

शिलान्यास को लेकर कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते सीएम

मुख्यमंत्री शिलान्यास कार्यक्रम को लेकर कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते हैं। इसलिए वह रविवार को फिर जाकर तैयारियों को परखेंगे। इससे पहले मंगलवार को उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य भी अयोध्या का दौरा करके तैयारियों का जायजा ले चुके हैं। मुख्य सचिव आरके तिवारी, पुलिस महानिदेशक हितेश चंद्र अवस्थी और अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने भी शुक्रवार को अयोध्या का दौरा किया।

रामनगरी के 25 स्थानों पर मानस पाठ व भजन के कार्यक्रम

लोगों को शिलान्यास कार्यक्रम का सजीव प्रसारण दिखाने की व्यवस्था की जा रही है। अयोध्या को सजाने संवारने का काम तो तेजी से हो ही रहा है, इसके साथ ही धार्मिक व सांस्कृतिक आयोजनों के जरिए भी रामनगरी की धार्मिक महत्ता को प्रदर्शित करने की तैयारी है। भूमि पूजन के दिन रामनगरी के 25 स्थानों पर मानस पाठ व भजन के कार्यक्रम किए जाएंगे। पूरी रामनगरी में मानस की चौपाइयां गूंजती नजर आएंगी।

पूरी अयोध्या में उमंग, उत्साह का माहौल

श्रीरामजन्मभूमि के पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास कहते हैं कि जब रामजन्मभूमि का ताला खुला था। तब पूरी अयोध्या उल्लास में डूब गयी थी। प्रत्येक रामभक्त के चेहरे पर खुशी देखी जा सकती थी। करीब एक सप्ताह तक अयोध्या में दिवाली मनाई गयी थी। अब एक बार फिर अयोध्या के लिए उत्सव का दिन आया है, यह 1986 से बड़ा उत्सव होगा, क्योंकि अब रामलला का दिव्य-भव्य मंदिर जो बनने जा रहा है। जिसका इंतजार रामभक्तों को सदियों से था। इसलिए पूरी अयोध्या में उमंग, उत्साह का माहौल है।

चप्पे-चप्पे पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था

राम नगरी में 3,500 सुरक्षाकर्मी को तैनात किए जा रहे हैं। भूमि पूजन स्थल के आसपास और वीवीआईपी के रूट पर घरों व इमारतों की छतों में स्नाइपर्स तैनात किए जाएंगे। साथ ही एटीएस की कमांडों टीमें भी मौजूद रहेंगी। आर्टीफीशियल इंटेलिजेंस वाले पांच हजार सीसीटीवी कैमरों के जरिए कार्यक्रम स्थल समेत अयोध्या के विशेष इलाकों की निगरानी की जाएगी। ड्रोन कैमरों के जरिए आसमान से भी नजर रखी जाएगी।